नई दिल्ली, एएनआइ। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने लाइफलाइन उड़ान पहल के अंतर्गत 3 अप्रैल तक देशभर में चिकित्सा उपकरण की ढुलाई के लिए 107 उड़ानें संचालित की। इसमें अब तक लगभग देशभर में कुल 138.81 टन की ढुलाई हुई है। बता दें कि कोविड-19 के खिलाफ भारत के इस अभियान में नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने देशभर में चिकित्सा और आवश्यक आपूर्ति के लिए लाइफलाइन उड़ानें शुरू की हैं।

बता दें कि हाल ही में लॉकडाउन की अवधि 21 दिन किए जाने के बाद अंतरराष्ट्रीय कमर्शियल यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध की अवधि को भी 14 अप्रैल तक के लिए बढ़ा दिया गया था। घरेलू यात्री उड़ानें पहले 31 तक ही बंद की गई थी। देश में कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए पीएम मोदी ने देश में 21 दिनों यानि 14 अप्रैल तक लैकडाउन की घोषणा की है। इसमें सड़क, रेल और अंतरराष्‍ट्रीय व घरेलू उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

अंतरराष्ट्रीय कमर्शियल यात्री उड़ाने

डीजीसीए ने 19 मार्च को भारत में सभी अंतरराष्ट्रीय कमर्शियल यात्री उड़ानों पर 23 मार्च प्रात: डेढ़ बजे से लेकर 29 मार्च को प्रात: साढ़े पांच बजे तक प्रतिबंधित किए जाने की घोषणा की थी। उसी प्रतिबंध को आगे बढ़ाते हुए डीजीसीए ने ऐलान किया कि, '19 मार्च, 2020 के उक्त सर्कुलर के क्रम में इस बात का निर्णय लिया गया है कि समस्त अंतरराष्ट्रीय कमर्शियल यात्री उड़ान सेवाएं 14 अप्रैल, 2020 को 18:30 जीएमटी अर्थात भारतीय मानक समय के अनुसार रात 00:00 बजे तक बंद रहेंगी।'

देश में कोरोना वायरस के आंकड़े

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि पिछले 12 घंटों में 355 नए मामलों के साथ, कोरोना वायरस पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 2,902 हो गई। 2,902 मामलों में से, 2,650 सक्रिय मामले हैं और 184 ठीक हो गए हैं या छुट्टी दे दी गई है। इनमें 68 लोगों की मृत्यु भी हो गई है।

Posted By: Nitin Arora

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस