रायपुर, एएनआइ। छत्तीसगढ़ में आज यानी गुरुवार को आइइडी (IED) बम धमाका हुआ। इस धमाके में स्पेशल टास्क फोर्स का एक जवान घायल हो गया है। यह धमाका मोरपल्ली वन क्षेत्र (Morpalli forest) के पास हुआ। यह क्षेत्र चिंतलनार थाना सीमा के अंतर्गत आता है। घायल हुए जवान का इलाज पास ही के एक अस्पताल में चल रहा है। फिलहाल इस धमाके की जिम्मेदारी किसी भी आतंकी संगठन ने नहीं ली है। इससे पहले भी राज्य में कई प्रकार धमाके हो चुके हैं। 

18 नवंबर 2019 को छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सली हमला हुआ था। इस दौरान दो नक्सली पकड़े गए थे। इस दौरान पुलिस ने एक टिफिन बम को जब्त किया था। इससे पहले भी इसी जगह पर 8 नवंबर 2019 को नक्सली हमला हुआ था। इस दौरान 2 जवान शहीद हो गए थे। बता दें कि छत्तीसगढ़ का दंतेवाडा नक्सली क्षेत्र है। यहां पर समय-समय पर नक्सली हमले होते रहते हैं। इसको रोकने के लिए राज्य सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है,लेकिन इस प्रकार के हमले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। 

देश में 10 महीनों (दिसंबर 2018 से सितंबर 2019) के बीच 128 नक्सलियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराए हैं। इसमें से करीब 60 फीसद अकेले दंडकारण्य यानी छत्तीसगढ़ में मारे गए हैं। माओवादियों की सेंट्रल मिलिट्री कमीशन (सीएमसी) ने इसकी पुष्टि की।  छत्तीसगढ़ में 8 दिसंबर 2019 को एक आइडी ब्लास्ट में जवान घायल हो गया था। इस दौरान घायलों को हाल जानने के लिए सीआरपीएफ आइजी संजय आनंद लाठकर मेडिकल अस्पताल में पुहंचे थे। आइईडी ब्लास्ट में घायल जवान प्रणय दास की गंभीर स्थिति को देखते हुए उन्‍हें बेहतर इलाज के लिए रांची के मेडिका से एयर एंबुलेंस से दिल्ली भेजा गया। दिल्ली भेजे जाने के लिए रांची में ग्रीन कॉरीडोर बना। कॉरीडोर बनाए जाने पर महज 18 मिनट के भीतर एयरपोर्ट पहुंचा दिया गया।

Posted By: Pooja Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस