नई दिल्ली (एएनआई)। पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान के मसले पर वार्ता करने के अलावा और कोई रास्ता नहीं है। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि इस्लामाबाद के लिए नई दिल्ली को भी अनदेखा करना जरुरी हो गया है। वे 'भारत-पाकिस्तान संबंधों के वर्तमान हालात' पर आधारित सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर भी वहां मौजीद थे। 

इस दौरान कांग्रेस नेता ने कहा कि 'हमारा यह मानना है कि जम्मू और कश्मीर मसले पर हमने बहुत लड़ाई लड़ी है और काफी मुश्किलों का भी सामना किया है। लेकिन भारत और पाकिस्तान को एक साथ मिलकर अब आगे बढ़ना होगा। कसूरी ने आगे कहा, लड़ाई में किसी की भी जीत नहीं होगी दोनों की हार होगी। विद्वानों ने भी कहा है कि किसी भी लड़ाई का कोई स्थायी हल नहीं निकलता है। मुझे नहीं लगता है कि किसी लड़ाई के बाद शांति स्थापित हो सकती है। मेरा निष्कर्ष यह है कि वार्ता करने के अलावा दोनों देशों के बीच कोई रास्ता नहीं है।

पूर्व पाकिस्तान मंत्री ने इस दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि "पाकिस्तान को अलग नहीं किया जा सकता है, क्योंकि पाकिस्तान न सिर्फ रणनीतिक लिहाज से बल्कि मुस्लिम बहुल देश होने के लिहाज से भी काफी महत्वपूर्ण है। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि आज अमेरिका अलग-थलग पड़ा है पाकिस्तान नही।" 

यह भी पढ़ें : कांग्रेस में मणिशंकर के बाद अब कपिल सिब्बल के निष्कासन की मांग

Posted By: Srishti Verma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस