Move to Jagran APP

Heatwave Alert: अभी नहीं मिलेगी गर्मी से राहत, इन राज्यों में फिर बढ़ेगा पारा, मौसम विभाग ने दी लू चलने की चेतावनी

Heatwave Alert Weather Update मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि देश के कई इलाकों में फिर से गर्म हवाएं चलेंगी जिससे तापमान दो से तीन डिग्री तक बढ़ जाएगा। गर्मी से राहत की उम्मीद कर रहे लोगों के लिए यह बड़ा झटका है। जानिए विभाग ने क्या दी है पूरी जानकारी और किन-किन राज्यों के लिए जारी किया है अलर्ट।

By Agency Edited By: Sachin Pandey Published: Mon, 10 Jun 2024 04:44 PM (IST)Updated: Mon, 10 Jun 2024 04:44 PM (IST)
Heatwave Alert: उत्तर पश्चिम एवं पूर्वी भारत में फिर से गर्म हवाएं पारा बढ़ाएंगी। (File Photo)

पीटीआई, नई दिल्ली। गर्मी से राहत की उम्मीद लगाए बैठे लोगों को मौसम विभाग ने बड़ा झटका दिया है। विभाग ने बताया कि अभी कई राज्यों में तापमान में एक बार फिर बढ़ोत्तरी देखने को मिलेगी और फिर से इन इलाकों में गर्म हवाएं चलेंगी। विभाग ने सोमवार को इसकी जानकारी दी।

गौरतलब है कि उत्तरी भारत के कई हिस्सों में कुछ दिनों से तापमान में गिरावट दर्ज की गई थी लेकिन फिर से इसके बढ़ने के आसार हैं। दक्षिणी राज्यों में मानसून की आहट के बीच उत्तर पश्चिम एवं पूर्वी भारत में हालात फिर से बिगड़ने वाले हैं। मौसम विभाग की मानें तो इन इलाकों में भीषण गर्मी का एक और दौर शुरू हो गया है और अगले पांच दिनों में तापमान में दो से तीन डिग्री की वृद्धि हो सकती है।

इन राज्यों में होगा असर

आईएमडी ने एक बयान में कहा कि अगले पांच दिनों के दौरान उत्तर-पश्चिम और पूर्वी भारत में लू से गंभीर लू चलने की संभावना है। मौसम कार्यालय ने कहा कि गर्मी की लहर का असर जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश, झारखंड, ओडिशा और गंगीय पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों पर देखा जा सकता है।

इससे पहले भारत में अप्रैल और मई में तीव्र और लंबी गर्मी ने लोगों का जीना मुहाल किया था। यहां तक कि उत्तर प्रदेश, बिहार और ओडिशा सहित कई राज्यों से हीटवेव से लोगों की मरने की भी खबरें आई थीं। विशेषज्ञों का कहना है कि इसके लिए प्राकृतिक रूप से होने वाली अल नीनो घटना जिम्मेदार थी, जोकि मध्य और पूर्वी प्रशांत महासागर में समुद्री सतह की असामान्य गर्मी और वातावरण में ग्रीनहाउस गैसों की तेजी से बढ़ते कंसंट्रेशन के परिणामस्वरूप होती है।

50 डिग्री तक पहुंचा था पारा

इसके अलावा अध्ययनों से यह पता चलता है कि तेजी से शहरीकरण ने शहरी क्षेत्रों में गर्मी को बदतर बना दिया है, जिसका सबसे अधिक प्रभाव बाहरी श्रमिकों और कम आय वाले परिवारों पर पड़ता है। मई में हीटवेव के कारण असम, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और अरुणाचल प्रदेश की पहाड़ियों सहित देश भर में कई स्थानों पर अब तक का उच्चतम तापमान दर्ज किया गया। राजस्थान में पारा 50 डिग्री सेल्सियस और दिल्ली तथा हरियाणा में इसी स्तर के करीब पहुंच गया था।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.