नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव बान की मून और विश्व स्वास्थ्य संगठन की पूर्व महानिदेशक व नार्वे की पूर्व प्रधानमंत्री ग्रो हार्लेम ब्रंटलैंड को मोहल्ला क्लीनिक व पॉली क्लीनिक का दीदार कराया।

दिल्ली के पश्चिम विहार मेट्रो स्टेशन के नजदीक पीरागढ़ी मोहल्ला क्लीनिक पर दोनों विदेशी मेहमानों ने मोहल्ला क्लीनिक व पॉली क्लीनिक देखा। इस दौरान केजरीवाल के साथ स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन भी मौजूद रहे। विदेशी मेहमानों के दौरे के कुछ देर बाद ही सोशल मीडिया पर मोहल्ला क्लीनिक की बदहाली पर केजरीवाल सरकार फंसी हुई नजर आई।  

दिल्ली वालों को सच पता है

आम अादमी पार्टी (AAP) के बागी नेता और करावल नगर से विधायक कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर कहा- 'सारी दिल्ली में टूटी-फूटी मोहल्ला क्लीनिक। कहीं ताला पड़ा हैं, कहीं जानवर। कागजों पर एक मिनट में चार मरीजों का इलाज। विदेशियों को एक मोहल्ला क्लिनिक जिसे एक हफ़्ते पहले ही रिपेयर किया, दिखाकर झूठ बेचा जा रहा हैं। दुनिया मे कितना भी झूठ दिखाओं, दिल्ली वालों को सच पता हैं।'

केजरीवाल पर सियासी वार 

वहीं, भाजपा-अकाली दल के संयुक्त विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने भी केजरीवाल के बदहाल मोहल्ला क्लीनिक पर हमला बोला है। साथ ही अपने ट्वीट में बदहाल मोहल्ला क्लीनिक को फोटो लगाकर लिखा- 'ये है वर्ल्ड क्लास मोहल्ला क्लीनिक।'

जानवरों ने बनाया बसेरा 

बताया जा रहा है कि दोनों विदेशी मेहमानों के आने से पहले पीरागढ़ी मोहल्ला क्लीनिक को मरम्मत से लेकर अन्य काम कराकर इसे दुरुस्त किया गया, जिससे यह मोहल्ला क्लीनिक सुंदर और सुव्यवस्थित दिखे। इसके विपरीत दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक के हालात किसी से छिपे नहीं हैं। दवाइयों और डॉक्टरों की कमी तो है ही, साथ ही कई जगहों पर तो जानवरों ने अपना बसेरा बना लिया है।

नशेड़ियों का अड्डा बने मोहल्ला क्लीनिक 

दरअसल, आम आदमी पार्टी अपने ड्रीम प्रोजेक्ट मोहल्ला क्लीनिक की तारीफ करती नहीं थकती, वहीं ये बदहाल स्थिति में हैं। आलम यह है कि कहीं घोड़े बंधे हैं तो कहीं नशेड़ियों ने यहां पर अपना ठिकाना बना लिया है। हाल यह है कि दिल्ली के आम आदमी को सस्ता और बेहतर इलाज मुहैया कराने के इरादे से बनाए गए मोहल्ला क्लीनिक इन दिनों बदहाल हैं।  

आराम फरमा रहे हैं घोड़े व गधे

दिल्ली सरकार की महत्वाकांक्षी योजना मोहल्ला क्लीनिक की बदहाली देखनी है तो मंत्री गोपाल राय के विधानसभा क्षेत्र कर्दमपुरी चले आइए। यहां मोहल्ला क्लीनिक तो है, लेकिन आज तक उद्घाटन नहीं हुआ। ऐसे में यहां पर आज घोड़े व गधे आराम फरमा रहे हैं। इतना ही नहीं यहां पर रात के समय तो आसपास के इलाकों से भी गधों को लाकर क्लीनिक में बांध दिया जाता है और क्लीनिक के अंदर ही उनका चारा व अन्य साज-ओ-सामान भी रखा जाता है।

यहां पर बता दें कि बता दें कि दिल्ली सरकार ने योजना की शुरुआत में 1000 मोहल्ला क्लीनिक खोलने का ऐलान किया था, फिलहाल पूरी दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक 200 के आसपास भी नहीं खुल पाए हैं। उम्मीद की जा रही है कि साल पूरा होने तक इनकी संख्या 250 के आसपास हो जाएगी।

Posted By: JP Yadav