नई दिल्ली (जेएनएन)। 3600 करोड़ रुपये के अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआइपी चॉपर सौदा घोटाले में आरोपी पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी को बड़ी राहत मिली है। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने बुधवार को सुनवाई में  पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी व उनके दो भाइयों को जमानत दे दी है। वहीं, इस मामले में कोर्ट में हाजिर न होने वाले आरोपियों को जमानत नहीं मिली है। 

बता दें कि इस घोटाले में ईडी ने पहले भी एक आरोप पत्र दाखिल किया था, जिसमें दुबई की एक कंपनी को आरोपित बनाया गया। मामले में अब तक तीन आरोप पत्र कोर्ट में दाखिल हो चुके हैं, जिनमें हेलीकॉप्टर डील के लिए गलत तरीके से पैसों का लेनदेन किए जाने की बात कही गई।

मामले में पहले भी एसपी त्यागी, पूर्व एयर मार्शल जेएस गुजराल समेत सात अन्य के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया जा चुका है, जिसमें 3,600 करोड़ रुपये में हेलीकॉप्टरों की खरीद सुनिश्चित करने के लिए 423 करोड़ रुपये की रिश्वत लेने का आरोप है। जांच एजेंसी ने भ्रष्टाचार निरोधक कानून व अपराधिक षड़यंत्र के तहत आरोप लगाए थे।

क्या है यह पूरा मामला
बता दें कि यह मामला भारत को 12 लक्जरी हेलिकॉप्टर की बिक्री से जु़ड़ा हुआ है। वर्ष 2012 में इसकी जांच शुरु कि गई थी और इसके बाद बाद ओरसी और स्पागनोलिनी पर मामला दर्ज किया गया था। भारत ने भारतीय वायुसेना को 12 एडब्ल्यू-101 वीवीआईपी हेलिकॉप्टर आपूर्ति करने के लिए फिनमेकेनिका की ब्रिटिश सहायक कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड के साथ जनवरी 2014 में अनुंबध खत्म कर दिया। निविदा की शर्तों के उल्लंघन और सौदा सुनिश्चित करने के लिए कंपनी की ओर से घूस देने के आरोपों पर यह अनुबंध रद्द किया गया।

Posted By: JP Yadav