नई दिल्ली,जेएनएन। रेल में सफर करने वाले यात्रियों को थोड़ी मुश्किलों का सामना करना पडेगा। 15 से 22 जुलाई तक नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से चलने वाली 80 ट्रेनें रद कर दी गई हैं। इतना ही नहीं 57 ट्रेनों के मार्ग में बदलाव किया गया है। दरअसल, नई दिल्ली से तिलक ब्रिज रेलवे स्टेशन के बीच पांचवीं व छठी रेल लाइन शुरू करने के लिए नॉन इंटरलॉकिंग का काम किया जाना है। जिस वजह से यह फैसला लिया गया है। यात्रियों को सबसे ज्यादा दिक्कत का सामना 18 से 21 जुलाई के बीच करना होगा क्योंकि उसी समय अधिक ट्रेनों को रद किया गया है।

अधिकारियों का कहना है कि दो नई रेल लाइनें शुरू होने के बाद नई दिल्ली से ट्रेनों को समय पर चलाने में मदद मिलेगी। जानकारी के लिए बता दें कि इस समय नई दिल्ली से तिलक ब्रिज के बीच चार लाइन हैं। ट्रेनों की संख्या के हिसाब से यह कम हैं। पर्याप्त लाइन नहीं होने के कारण नई दिल्ली आने और यहां से रवाना होने वाली ट्रेनों को समय पर चलाने में परेशानी होती है।

रेलवे के एक अधिकारी ने कहा कि नई रेल लाइन बनने के बाद यह परेशानी दूर हो जाएगी। उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी दीपक कुमार ने बताया कि तिलक ब्रिज 1978 में बना था। उस समय रोजाना करीब 80 ट्रेनों का संचालन होता था। लेकिन, यह संख्या बढ़ गई है, अब रोजाना 350 के आसपास ट्रेनें चलती हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि 2.6 किलोमीटर लंबी दो नई रेल लाइन पर लगभग 140 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस