जयपुर/नई दिल्‍ली, एएनआइ। देश के कई इलाकों में बाढ़ से हाहाकार मचा है। राजस्‍थान के डूंगरपुर एक बड़ा हादसा होते होते बच गया। समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, बाढ़ में घिरे 20 बच्‍चों को ले जा रही एक ट्रक सड़क पर बह रही तेज धारा में बह गई। हालांकि, लोगों ने समय रहते ही इन बच्‍चों को बचा लिया।  

देश के चार राज्यों में लौटते मानसून ने बाढ़ के हालात बना दिए हैं। बिहार में भारी बारिश के चलते आई बाढ़ ने लोगों को जीना मुहाल कर रखा है। बिहार में शनिवार को 15, उत्तर प्रदेश में 31 और मध्य प्रदेश में तीन और झारखंड में छह लोगों की मौत हुई है।

पटना में भारी बारिश से बाढ़ के हालात हैं। इससे कुछ इलाकों में छह फीट तक पानी भर गया है। सांसद राजीव प्रताप रुडी के घर में दो फीट तक पानी भर गया है। इसी तरह मंत्री प्रेम कुमार और नंद किशोर यादव आदि के घरों में भी बारिश का पानी जमा है। स्कूल कॉलेजों को बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं।

मौसम विभाग ने अगले एक-दो दिनों में सुपौल, अररिया, किशनगंज, बांका, समस्तीपुर, मधेपुरा, सहरसा, पूर्णिया, दरभंगा, भागलपुर समेत 14 जिलों में भारी बारिश की पूर्व चेतावनी के तहत रेड अलर्ट जबकि पटना सहित 5 जिलों में येलो अलर्ट जारी किया है। यही नहीं राज्‍य के नौ जिलों में ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया गया है। 

इसी बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की झारखंड़ की तीन दिवसीय यात्रा के दूसरे दिन आज रविवार को गुमला और देवघर के सभी कार्यक्रम भारी बारिश के चलते रद्द कर दिए गए हैं। यही नहीं भारी बारिश को देखते हुए मुख्यमंत्री की कोलहान में चल रही जन आशीर्वाद यात्रा भी स्थगित कर दी गई है।

 

बिहार में सड़क, रेल व वायु यातायात प्रभावित हुए हैं। पटना में करीब 45 साल बाद ऐसा जल-जमाव देखने को मिला है। इसने 1975 की बाढ़ की याद दिला दी है, जब पटना डूब गया था। सड़कों पर नाव चल रही है और लोग घरों के घरों तथा अस्‍पतालों तक में पानी घुस गया है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने हाई लेवल बैठक कर स्थिति की समीक्षा की है। 

 

समस्तीपुर-दरभंगा रेलमार्ग पर किशनपुर-रामभद्रपुर के मध्य ट्रेनों का परिचालन रद्द कर दिया गया है जबकि कई ट्रेनों के समय में बदलाव किया गया है। वहीं उत्‍तर प्रदेश में पिछले दो दिनों में हुई भयंकर बारिश के कारण करीब 90 लोगों के मरने की सूचनाएं हैं। जिलाधिकारियों को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के निर्देश जारी किए गए हैं। 

उत्तराखंड में भी बारिश का कहर जारी है। मौसम विभाग ने चमोली, पौड़ी, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, टिहरी बागेश्वर और पिथौरागढ़ में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है जबकि बद्रीनाथ के रास्ते में लामबगड़ में भूस्खलन से यातायात आवागमन ठप हो गया है। रिपोर्टों के मुताबिक, बद्रीनाथ में दर्शन के लिए पहुंचे यात्री जोशीमठ नहीं पहुंच पा रहे हैं। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप