Move to Jagran APP

नाम बदलकर भिलाई में रह रही बांग्लादेशी महिला पति के साथ गिरफ्तार, स्थानीय युवक से की थी शादी

आरोपित महिला के पास से पुलिस ने भारतीय पासपोर्ट के साथ ही बांग्लादेश का भी पासपोर्ट बरामद किया गया है।

By Dhyanendra SinghEdited By: Published: Mon, 20 Jan 2020 10:21 PM (IST)Updated: Mon, 20 Jan 2020 10:31 PM (IST)
नाम बदलकर भिलाई में रह रही बांग्लादेशी महिला पति के साथ गिरफ्तार, स्थानीय युवक से की थी शादी

भिलाई, जेएनएन। फर्जी तरीके से भारतीय नागरिकता लेकर भिलाई में रह रही एक बांग्लादेशी महिला को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपित ने भिलाई स्थित जामुल के एक युवक से शादी करने के बाद उसकी मदद से भारतीय पासपोर्ट और अन्य पहचान पत्र बनवा लिए थे।

आरोपित महिला के पास से पुलिस ने भारतीय पासपोर्ट के साथ ही बांग्लादेश का भी पासपोर्ट बरामद किया गया है। पुलिस ने दंपती के खिलाफ धोखाधड़ी, कूटरचना तथा भारतीय पासपोर्ट अधिनियम के साथ ही विदेशी विषयक अधिनियम की धाराओं के तहत कार्रवाई की है।

आर्य समाज मंदिर में की थी शादी

छावनी के नगर पुलिस अधीक्षक (CSP) विश्वास चंद्राकर ने बताया कि 32 एकड़ हाउसिंग बोर्ड जामुल निवासी हेमेंद्र पराडकर और उसकी पत्नी आशा अख्तर उर्फ प्रिया पराडकर (24) को गिरफ्तार किया गया है। बांग्लादेश की आशा यहां नाम बदलकर रह रही थी। उसने पांच अक्टूबर 2017 को हेमेंद्र पराडकर से रायपुर के आर्य समाज मंदिर में शादी की थी।

आशा के पास से मिला टूरिस्ट वीजा

चंद्राकर ने बताया कि आशा के पास से टूरिस्ट वीजा भी मिला है, जिसकी वैधता 29 अक्टूबर 2019 को समाप्त हो चुकी है। प्रारंभिक जांच में पता चला है कि आरोपित महिला देह व्यापार में लिप्त है। वो यहां भी यही काम करती थी। शादी के बाद पति के नाम का सहारा लेकर उसने दस्तावेज तैयार करा लिए थे।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.