नई दिल्ली, एजेंसी। मानसून के इंतजार में तारीखें गिन रहे लोगों को मायूसी का सामना करना पड़ सकता है। दरअसल मौसम विशेषज्ञों ने पहले अनुमान लगाया था कि इस बार भारत में मानसून समय से पहले आएगा, लेकिन अब कहा जा रहा है कि भारत आने से पहले ही मानसून कमजोर नजर आ रहा है। आईएमडी का अनुमान था कि मानसून 27 मई को केरल पहुंच सकता है। मौसम विभाग के मुताबिक मानसून अभी साउथ वेस्ट अरबियन समुद्र के कुछ भाग में पहुंचा है। आईएमडी की माने तो मानसून के केरल तक पहुंचने में 4 दिन की देरी हो जाएगी। मौसम विभाग का पूर्वानुमान 27 मई तक मानसून केरल में फिक्स होगा। मौसम विभाग से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि इस बार 4 दिनों की देरी मानसून के शिफ्ट होने में लग सकता है।

वहीं मौसम विभाग ने मानसून को लेकर एक बड़ा अपडेट दिया है। IMD ने ट्वीट करके बताया है कि अगले 48 घंटों के दौरान दक्षिण-पश्चिम मानसून दक्षिण-पश्चिम अरब सागर के कुछ हिस्सों, दक्षिण-पूर्व अरब सागर के कुछ और हिस्सों, मालदीव और कोमोरिन क्षेत्र, दक्षिण और पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी और बंगाल की पूर्वोत्तर खाड़ी के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ने की संभावना है। मौसम विभाग ने मानसून के आगे बढ़ने का अनुमान लगाया है, लेकिन अब तक मानसून के अगले 48 घंटों में केरल पहुंचने की कोई भविष्यवाणी नहीं की गई है। इससे पहले मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की थी कि केरल में मानसून 27 मई तक पहुंच सकता है, लेकिन अब इसमें देरी हो सकती है।

फिलहाल केरल में मानसून की एंट्री से पहले प्री- मानसून बारिश जारी है। मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ के असर से उत्तर भारत के कई राज्यों में मौसम का मिजाज बदल गया है। पिछले कई दिनों से कई राज्यों में हल्की आंधी- बारिश से अधिकतम तापमान में गिरावट देखने को मिल रही है। इस बीच मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक इस साल मानसूनी बारिश सामान्य रहने की संभावना है। इस साल 99 फीसद बारिश होने की उम्मीद है।

मानसून का ये है हाल

स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, अगले 48 घंटों के दौरान दक्षिण पूर्व अरब सागर, मालदीव और कोमोरिन क्षेत्र के कुछ हिस्सों, दक्षिण और पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी और पूर्वोत्तर बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों में मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल होती जा रही हैं। अगर सबठीक रहा, तो मानसून अपनी गति से आगे बढ़ता रहेगा।

बिहार में मानसून आने में होगी देरी

बिहार में मानसून आने में अब देरी होगी। इसमें 2 से 4 दिन की देरी हो सकती है। इसका बड़ा कारण केरल में मानसून के सेट नहीं होना है। ऐसे में बिहार में भी 2 से 4 दिनों की देरी हो सकती है। बिहार में मानसून को लेकर 13 से 15 जून के बीच का समय फिक्स है। पिछले सीजन में मानसून पूर्वानुमान के एक दिदन पहले ही बिहार में आ गया था लेकिन इस बार दो से 4 दिनों की देरी का पूर्वानुमान है। बिहार में मानसून के देरी से आने का पूरी तरह से पूर्वानुमान है।

Edited By: Sanjeev Tiwari