गांधीनगर, [शत्रुघ्न शर्मा]। शिक्षिका से राजनेता बनीं आनंदीबेन पटेल को गुजरात की मुख्यमंत्री के रूप में चुना गया है। आनंदीबेन बृहस्पतिवार को राज्य की पहली महिला सीएम के रूप में शपथ लेंगी। वह गुजरात की नरेंद्र मोदी सरकार में 13 साल से कई अहम मंत्रालयों का काम देख रही हैं। बुधवार को मोदी ने राज्य के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद मणीनगर विधानसभा क्षेत्र के विधायक पद से भी त्यागपत्र दे दिया। अलविदा कहते हुए मोदी का गला भर आया, तो उनको विदा करते हुए सत्तापक्ष के साथ विपक्ष की आंखें भी नम दिखीं।

प्रधानमंत्री मनोनीत किए जाने पर मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने विधानसभा के विशेष सत्र के बाद राज्यपाल डॉ. कमला बेनीवाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया था। मोदी, भाजपा के प्रभारी ओम माथुर, भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय प्रभारी पुरुषोत्तम रूपाला, प्रदेश अध्यक्ष आरसी फलदू की उपस्थिति में केंद्रीय पर्यवेक्षक थावरचंद गहलोत ने विधायक दल की बैठक में नए मुख्यमंत्री का चुनाव किया। गांधीनगर टाउन हॉल में मुख्यमंत्री के लिए नाम घोषित होने के बाद आनंदीबेन ने राज्यपाल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश किया। आरएसएस की पाठशाला से निकले दो पुराने साथी मोदी-वाघेला सदन में साथ आए तो रिश्तों पर आई राजनीतिक गर्द छंटी और दिल करीब आए। गुजरात विधानसभा में मुख्यमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी के आखिरी दिन जब विदाई की बेला आई, तो कांग्रेस और भाजपा का भेद खत्म हो गया। विधानसभा अध्यक्ष वजुभाई वाला ने मोदी और शंकरसिंह वाघेला को एक ही गुरु संघ प्रचारक लक्ष्मण ईनामदार के शिष्य बताते हुए कहा कि किसी दाने के दो टुकड़े भले हो जाएं, लेकिन दोनों के गुण एक जैसे रहते हैं। खुद मोदी ने वाघेला के साथ मोटरसाइकिल पर गुजरात के गांव-गांव घूमने की बातें याद करते हुए कहा कि आज वाघेला गर्व से कह सकते हैं कि भारत के प्रधानमंत्री को उन्होंने बुलेट पर बैठाकर घुमाया है। इस दौरान उन्होंने कहा कि नियंत्रक व महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट का इस्तेमाल राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को निशाना बनाने के लिए नहीं किया जाना चाहिए।

भाजपा महासचिव अमित शाह ने कहा कि मोदी के हाथों नए युग का सूत्रपात होने वाला है। आनंदीबेन ने बुधवार को कहा कि मोदी देश के प्रधानमंत्री बनकर जा रहे हैं। ऐसे में एक आंख में खुशी, तो दूसरी आंख में उनको विदा करते हुए गम के आंसू छलक रहे हैं। केबिनेट मंत्री नितिन पटेल ने कहा कि मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद पड़ोसी मुल्क अब धमकाना बंद करेंगे।

भाजपा संसदीय दल की बैठक में नरेंद्र मोदी के भावुक भाषण को पढ़ने के लिए क्लिक करें

एक नजर: वीरता पुरस्कार विजेता आनंदी बेन पटेल

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप