Move to Jagran APP

किर्गिस्तान में तीन पाकिस्तानी छात्रों की लिचिंग पर भारत अलर्ट, एस जयशंकर का आया बयान

किर्गिस्तान में हिंसा को लेकर भारत भी अलर्ट है। शनिवार को विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस Pakistani Students Attacked in Kyrgyzstan मामले पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने लिखा बिश्केक में भारतीय छात्रों के हालात पर निगरानी रखी जा रही है। बताया जा रहा है कि स्थिति अब शांत है। छात्रों को दूतावास के साथ नियमित संपर्क में रहने की सलाह दी गई है।

By Agency Edited By: Piyush Kumar Sat, 18 May 2024 10:19 AM (IST)
किर्गिस्तान में पाकिस्तानी छात्रों की लिचिंग पर भारत का बयान सामने आया।(फोटो सोर्स: जागरण)

एएनआई, नई दिल्ली। Pakistani Students Attacked in Kyrgyzstan।   की राजधानी बिश्केक में स्थानीय और विदेशी छात्रों के बीच हिंसक झड़प हुई है। इस हिंसा में पाकिस्तान के तीन छात्रों की मौत हो गई है। जानकारी के मुताबिक, 13 मई को किर्गिज छात्रों और मिस्र के मेडिकल छात्रों के बीच लड़ाई हुई।

इसके बाद मामले में तूल पकड़ लिया।स्थानीय छात्रों ने विदेशी छात्रों को निशाना बनाना शुरू कर दिया। किर्गिस्तान हिंसा की कई वीडियो को पाकिस्तानी छात्रों ने सोशल मीडिया के जरिए शेयर करते हुए मदद की अपील की।

स्थिति अब शांत है: एस जयशंकर

किर्गिस्तान में हिंसा को लेकर भारत भी अलर्ट है। शनिवार को विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस मामले पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने लिखा, बिश्केक में भारतीय छात्रों के हालात पर निगरानी रखी जा रही है। बताया जा रहा है कि स्थिति अब शांत है। छात्रों को दूतावास के साथ नियमित संपर्क में रहने की सलाह दी गई है।

भारतीय दूतावास ने जारी की एडवाइजरी

किर्गिस्तान में मौजूद भारतीय दूतावास ने लिखा, "हम अपने छात्रों के संपर्क में हैं। स्थिति फिलहाल शांत है, लेकिन छात्रों को सलाह दी जाती है कि वे फिलहाल घर के अंदर ही रहें और कोई भी समस्या होने पर दूतावास से संपर्क करें। हमारा 24×7 संपर्क नंबर 0555710041 है।

पीएम शहबाज ने जाहिर की चिंता

पाकिस्तान की कुछ फीमेल स्टूडेंट्स को परेशान करना का भी मामला सामने आया है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने इस मामले पर चिंता जाहिर करते हुए एक्स पर एक पोस्ट लिखा

उन्होंने लिखा,"किर्गिस्तान के बिश्केक में पाकिस्तानी छात्रों को साथ हुई घटना को लेकर चिंतित हूं। मैंने पाकिस्तानी राजदूत को आवश्यक मदद और सहायता प्रदान करने का निर्देश दिया है। मेरा कार्यालय भी दूतावास के संपर्क में है और स्थिति पर लगातार नजर रख रहा है।"

यह भी पढ़ें: US: पहले पत्नी और बच्चे को बनाया बंधक, फिर अपने 6 माह के मासूम पर बरसाई गोलियां; जांच में जुटी पुलिस