चेन्नई, एएनआइ। रूस में वोल्गा नदी में डबने से चार भारतीय छात्रों की मौत हो गई है। ये छात्र तमिलनाडु के रहने वाले थे।  विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन मे कहा कि वोल्गा नदीं में डूबने से मरने वाले 4 भारतीय छात्रों के परिवारों के प्रति संवेदना। उन्होंने आगे कहा कि रूस में भारतीय दूतावास की जानकारी के अनुसार, अगले हफ्ते की शुरुआत में शवों के भारत पहुंचने की उम्मीद है। 

मेडिकल की पढ़ाई कर रहे थे मृत छात्र

बता दें कि मृत चारों छात्र मेडिकल की पढ़ाई कर रहे हैं। गौरतलब है कि तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने रूस में मेडिकल की पढ़ाई करने वाले चार छात्रों के शवों को स्वदेश लाए जाने की व्यवस्था करने के आदेश अधिकारियों को पहले ही दे दिए थे। बता दें कि इन छात्रों की मौत वोल्गा नदी में डूबने से हुई थी।

मुख्यमंत्री बोले वोल्गा नदीं में डुबे छात्रों के शव स्वदेश लाने की हो व्यवस्था

मुख्यमंत्री ने कहा था उन्होंने उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिया है कि तत्काल विदेश मंत्रालय और रूस में भारतीय दूतावास से संपर्क करके वोल्गा नदी में डूबे चारों छात्रों के शवों को स्वदेश लाए जाने की व्यवस्था की जाए। जारी किए गए बयान में आगे कहा गया है कि  पीड़ित वोल्गोग्राद राज्य चिकित्सा विश्वविद्यालय में पढ़ाई कर रहे थे।

मरने वाले छात्रों के परिवारों के प्रति मुख्यमंत्री ने प्रकट की संवेदनाएं

इन चारों छात्रों की पहचान तिरुपुर जिले के मोहम्मद आशिक,  सालेम के मनोज आनंद, कुड्डालोर के आर विग्नेश, और चेन्नई के स्टीफन के रूप में हुई। मुख्यमंत्री ने भी परिवारों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट की और कहा कि आठ अगस्त को इन चार छात्रों की मौत की खबर से उन्हें बेहद दुख हुआ। बता दें कि इससे पहले बिहार के कुछ छात्र कोरोना वायरस के चलते रूस के एक जिले में फंस गए थे। 

ये भी पढ़ें: तमिलनाडु- कोरोना वायरस को लेकर जागरूकता फैलाएंगे एलईडी वाहन, सीएम ने किया अभियान का उद्घाटन

Posted By: Ayushi Tyagi

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस