ईटानगर (अरुणाचल प्रदेश), एजेंसी। अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) ने सोमवार को ड्रोन सेवा 'आसमान से दवा' (Medicine From The Sky) की पहली उड़ान पूर्वी कामेंग जिले (East Kameng District) के सेप्पा (Seppa) से च्यांग ताजो (Chayang Tajo) तक सफलतापूर्वक शुरू की। मुख्यमंत्री पेमा खांडू (Chief Minister Pema Khandu) ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी।

'पीएम मोदी के दृष्टिकोण से प्रेरित होकर शुरू किया प्रोजेक्ट'

पेमा खांडू ने कहा, 'ड्रोन सेवाएं शुरू की गई हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के भारत को दुनिया का ड्रोन हब बनाने के दृष्टिकोण से प्रेरित होकर अरुणाचल प्रदेश सरकार ने विश्व आर्थिक मंच (World Economic Forum) के सहयोग से स्वास्थ्य, कृषि और आपदा प्रबंधन में ड्रोन का उपयोग करने के लिए एक पायलट प्रोजेक्ट शुरू करने का निर्णय लिया है।'

खांडू ने शेयर किया वीडियो

खांडू ने कहा. 'क्षेत्रीय मूल्यांकन रिपोर्ट' के आधार पर स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पूर्वी कामेंग जिले के सेप्पा से एक पायलट प्रोजेक्ट 'मेडिसिन फ्राम द स्काई' शुरू किया जा रहा है। आजादी का अमृत महोत्सव (Azadi Ka Amrit Mahotsav) समारोह के हिस्से के रूप में इसे वर्चुअली लांच करने पर खुशी है।' उन्होंने ड्रोन उड़ान सेवा के शुरू होने का वीडियो भी शेयर किया है।

'चरणबद्ध तरीके से तकनीक को अपनाया जाएगा'

मुख्यमंत्री खांडू ने कहा कि पायलट प्रोजेक्ट को यूनाइटेड स्टेट एजेंसी फार इंटरनेशनल डेवलमेंट (USAID) द्वारा वित्त पोषित और बेंगलुरु आधारित स्टार्टअप रेडविंग लैब्स (Redwing Labs) द्वारा निष्पादित किया गया है। उन्होंने कहा कि पायलट परियोजना परिचालन मुद्दों, वित्तीय व्यवहार्यता और नियामक मुद्दों पर एक स्पष्ट तस्वीर प्रदान करेगी, जिसके आधार पर हमारी सरकार एक नीति बनाएगी और इस उभरती हुई तकनीक को चरणबद्ध तरीके से अपनाने के लिए कदम उठाएगी। 

Edited By: Achyut Kumar