नई दिल्ली, एजेंसी।  चक्रवाती तूफान फानी ने शुक्रवार को देश के कई राज्यों में तबाही मचाई। जहां ओडिशा, आंध्र प्रदेश, असम, पश्चिम बंगाल, में तूफान के कारण 245 किलोमीटर की रफ्तार तक से हवाई चली। इसी बीच भारतीय नौसेना के गोताखोरों ने इंफाल के पास एक नदी से दो लापता लोगों के शव बरामद किए हैं। जानकारी के मुताबिक, इंफाल के मापितेल डैम जलाशय से दो लापता लोगों के शव बरामद किए हैं। गोताखोरों की टीम ने 21 वर्षीय एस रोमीन और 19 वर्षीय एन रानी की लाश शुक्रवार को बरामद की। इससे पहले बुधवार को उनके बड़े भाई एस राजीव की बॉडी बरामद की गई थी। इन सभी की लाशों को जिला अधिकारियों को सौंप दिया गया है। 

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, इम्फाल के मापितेल डैम जलाशय में एक परिवार के कम से कम तीन सदस्य लापता हो गए थे। जिनके शव का पता लगाने के लिए नौसेना के गोताखोरों को बुलाया गया था। नौसेना के गोताखोरों की टीम को भारतीय वायु सेना (IAF) के विमान द्वारा एयरलिफ्ट किया गया और अब इस टीम को पश्चिम बंगाल में चल रहे बचाव कार्यों में फिर से लगाया जाएगा। गौरतलब है कि कि चक्रवात तूफान फानी पिछले 20 वर्षों में भारत को प्रभावित करने वाला सबसे शक्तिशाली चक्रवाती तूफान है।

ओडिशा से आगे निकलने के साथ ही फानी जैसे ही तटीय इलाकों की ओर बढ़ा तुरंत वहा से लोगों को हटाकर सुरक्षित जगह ले जाया गया। ओडिशा में फानी से आगे निकलते हुए, तटीय क्षेत्रों के लाखों लोग खाली हो गए और ऊंचे मैदान में चले गए। बता दें कि ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने राज्य में चक्रवाती तूफान फानी के कारण विनाश पर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी 6 मई को राज्य में स्थिति का जायजा लेने के लिए ओडिशा जाएंगे। 

जानकारी के लिए बता दें कि फानी से प्रभावित राज्यों को निपटने के लिए केंद्र सरकार ने 1000 करोड़ रुपये जारी किए है। इसकी घोषणा शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने की। इससे पहले 11 लाख लोगों को प्रभावित इलाकों से पहले ही हटा लिया गया था, जिससे नुकसान काफी कम हुआ। 10,000 गांवों और 52 शहरी क्षेत्रों को खाली करा लिया गया था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस