Move to Jagran APP

नेल्सन मंडेला की मौत पर प्रधानमंत्री ने जताया शोक

नई दिल्ली। रंगभेद विरोध के प्रणेता व दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला के निधन पर पूरी दुनिया में शोक की लहर है। विश्व के कई नेताओं ने मंडेला के निधन पर गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है।

By Edited By: Published: Fri, 06 Dec 2013 09:42 AM (IST)Updated: Fri, 06 Dec 2013 09:01 PM (IST)

नई दिल्ली। रंगभेद विरोध के प्रणेता व दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला के निधन पर पूरी दुनिया में शोक की लहर है। विश्व के कई नेताओं ने मंडेला के निधन पर गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है।

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मंडेला के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि वह सच्चे गांधीवादी नेता थे। उनका निधन भारत के लिए निजी क्षति है।

पढ़ें: नहीं रहे मंडेला, पूरी दुनिया में शोक की लहर

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी मंडेला के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि रंगभेद विरोध के नायक मानवता के लिए प्रेरणा के प्रतीक थे। वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने आप को मंडेला से प्रेरणा लेने वाले लाखों लोगों में एक बताते हुए उनके निधन पर शोक जताया और कहा कि दुनिया को अब उनके जैसे नेता को दोबारा नहीं मिल सकता। मंडेला के निधन की सूचना मिलने के कुछ ही समय बाद ओबामा ने व्हाइट हाउस के संवाददाताओं को बताया, मैं उन लाखों लोगों में हूं जिन्होंने मंडेला के जीवन से प्रेरणा ली है। मेरा पहला राजनीतिक कार्य- जो नीति, मुद्दे या राजनीति से जुड़ी थी, वह था रंगभेद का विरोध।

ओबामा ने कहा कि मैं उनकी बातों और कृतियों का अध्ययन करूंगा। जिस दिन वह जेल से रिहा हुए थे, उस दिन मुझे महसूस हुआ कि इंसान अपनी उम्मीदों के दिशा-निर्देशन पर जो कर सकता है, वह डर से नहीं कर सकता। इस दुनिया में रहने वाले बहुत से लोगों की तरह मैं अपने जीवन को मंडेला की पेश मिसाल के बिना पूरी तरह नहीं सोच सकता। अपने जीवन की अंतिम सांस तक मैं वह सब करूंगा, जो मैं उनसे सीखने के लिए कर सकता हूं।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड केमरन ने मंडेला को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि हमारी दुनिया का सबसे चमकीला प्रकाश हमारे बीच से चला गया। उन्होंने कहा कि मंडेला न केवल हमारे समय के, बल्कि सर्वकालीन नायक थे। दक्षिण अफ्रीका की स्वतंत्रता व न्याय के लिए उन्होंने बहुत कुछ सहन किया था।

चीन ने भी मंडेला के निधन पर शोक जताया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के माध्यम से जारी अपने संदेश में चीन ने कहा कि वह चीनी लोगों के पुराने और गहरे दोस्त थे।

-----

'वह एकजुटता के सूत्रधार थे। उनकी सबसे बड़ी विरासत यह है कि विविधता के बावजूद हम एक दूसरे के साथ शांति से रहे।'

-एफडब्ल्यू डी क्लार्क, दक्षिण अफ्रीका के अंतिम श्वेत राष्ट्रपति

-----

'मैं उन लाखों लोगों में से एक हूं जिन्होंने मंडेला के जीवन से प्रेरणा ली है। मेरा पहला राजनीतिक कार्य-ऐसी पहली चीज जो मैंने कभी किसी नीति, मुद्दे या राजनीति से संबद्ध की हो तो वह रंगभेद का विरोध था।'

-बराक ओबामा

-----

'वह भारत के महान मित्र थे और दोनों देशों के संबंधों को मजबूत करने में दिया गया उनका योगदान हमेशा याद किया जाएगा। उनका जीवन और कार्य आने वाली पीढि़यों के लिए प्रेरणा स्रोत रहेगा।'

-प्रणब मुखर्जी

--------

'वह सच्चे गांधीवादी नेता थे। उनका निधन भारत के लिए निजी क्षति है।'

-मनमोहन सिंह

--------

'वह सच्चे नेता थे। उन्होंने आगे आकर अपने देश का नेतृत्व किया। उन्होंने साहस और कुर्बानी की नई परिभाषा गढ़ी। वह लाखों लोगों की प्रेरणा के आधार थे।'

-सोनिया गांधी

--------

'दुनिया ने शांति और अहिंसा के दूत को खो दिया है।.. हममें से बहुत से लोग गांधी को नहीं देख पाए, लेकिन हम खुशनसीब हैं कि हमने मंडेला को देखा है।'

-नरेंद्र मोदी

--------

'आधुनिक समय में सबसे महान नेताओं से एक थे। उन्होंने अपने सिद्धांतों से कभी समझौता नहीं किया।'

-व्लादिमीर पुतिन, रूस के राष्ट्रपति

--------

'मंडेला विश्व मंच पर एक अनूठी हस्ती थे। वह न्याय के मसीहा थे। मैं उनके निधन से बेहद दुखी हूं।'

-बान की मून, संयुक्त राष्ट्र महासचिव

--------

'हमारे विश्व के सबसे प्रकाशमान ज्योतिपुंजों में से एक ज्योतिपुंज चला गया। मंडेला सिर्फ हमारे समय के नायक नहीं थे। वह तो सर्वकालिक नायक हैं।'

-डेविड कैमरन, ब्रिटिश प्रधानमंत्री

-------

'वह चीनी लोगों के पुराने और गहरे दोस्त थे।'

-शी चिनफिंग, चीन के राष्ट्रपति

-------

'दृढ़ इच्छाशक्ति, विश्वास और धैर्य के प्रतीक शख्सियत का निधन हो गया है, वह सत्य के पीछे लड़ने की अपनी शिक्षा को पीछे छोड़ गए हैं। मुझे दो अवसरों पर उनसे मिलने और उनकेसाथ समय बिताने का मौका मिला।'

-अमिताभ बच्चन

--------

'मंडेला को राजनेता से ज्यादा नैतिक नेता के तौर पर याद किया जाएगा। '

-टोनी एबॉट, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री

---------

'वह अपने व्यक्तिगत कार्यो से जाति और वर्ग की सीमा से आगे निकल गए। उनके साहस और दृढ़ संकल्प के कारण लोग उनसे प्यार करते थे।'

-डेसमंड टुटु, नोबेल पुरस्कार विजेता और आर्कबिशप

-------

'वह बेहतरीन इंसान थे, जिन्होंने अन्य लोगों को दुनिया को बदलने की प्रेरणा दी।'

-आंग सान सू की, म्यांमार में विपक्ष की नेता

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.