नई दिल्ली, जेएनएन। Makar Sankranti 2019, मकर संक्रांति (Makar Sankranti) के मौके पर देशभर में गंगा (Ganga River) सहित पवित्र नदियों पर सोमवार सुबह श्रद्धालुओं की भीड़ दिखी। इस पावन अवसर पर श्रद्धालुओं ने पश्चिम बंगाल के गंगा सागर में डुबकी लगाकर स्नान किया और भगवान सूर्य की अराधना की। मकर संक्रांति के मौके पर गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर में श्रद्धालु की भीड़ उमड़ी। वहीं माघी त्योहार के मौके पर अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में श्रद्धालु मत्था टेकने पहुंचे।

दो दिन मनाई जाएगी मकर संक्रांति

मकर संक्रांति इस बार दो दिन मनाई जाएगी। कुछ लोग सोमवार को तो कुछ मंगलवार को इस पर्व को मनाएंगे। सूर्य के मकर राशि में प्रवेश के कारण इस बार असमंजस की स्थिति है। सूर्य का मकर राशि में प्रवेश 14 जनवरी की शाम 7 बजकर 50 मिनट पर हो रहा है। शास्त्रों के अनुसार, रात में संक्रांति होने पर अगले दिन संक्रांति मनाई जाती है, लेकिन अब 14 जनवरी की बजाय 15 जनवरी को त्योहार मनाया जाएगा।

वाराणसी, प्रयागराज और हरिद्वार में श्रद्धालुओं की भारी भीड़

वाराणसी, प्रयागराज (Prayagraj) और हर की पौड़ी हरिद्वार में सुबह से श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जुटनी शुरू हो गई। श्रद्धालुओं के लिए हर जगह खास इंतजाम किए गए हैं। हरिद्वार में महिलाओं और पुरुषों के स्नान के लिए अलग-अलग व्यवस्थाएं की गई हैं। वहीं, प्रयागराज और वाराणसी में श्रद्धालुओं की की सुरक्षा को देखते हुए कड़े इंतजाम किए गए हैं।

प्रयागराज में कल्पवासी, स्टेशनों व बस अड्डों पर सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ दिख रही है और आस्था तथा भक्ति का अद्भुत नजारा देखने को मिल रहा है। प्रशासन ने इस खास मौके के लिए बसों और ट्रेनों की अतिरिक्त व्यवस्था की है। गंगासागर में रिकॉर्ड संख्या में लोग पहुंचे हैं। पुराणों में इस स्नान का विशेष महत्व बताया गया है। 

गंगासागर में सुरक्षा के चाक चौबंद

आस्था के महापर्व मकर संक्रांति के निकट आते ही हर डगर मानो 'मोक्ष नगर' की तरह बढ़ चली है। 'सब तीरथ बार-बार, गंगासागर एक बार' का नारा लगाते हुए देश के कोने-कोने से पुण्यार्थी गंगासागर पहुंच रहे हैं। विदेशों से प्रवासी भारतीय भी गंगासागर आए हैं। सबके मन में बस यही कामना है कि पतित पावनी गंगा और सिंधु नरेश सागर के पवित्र मिलन स्थल पर पुण्य डुबकी लगाने के बाद कपिलमुनि के दर्शन-पूजन कर जीवन मरन के चक्र से मुक्ति पाना।

मकर संक्रांति की तैयारी पूरी, आज खूब होगी पतंगबाजी

मकर संक्रांति की तैयारी पूरी हो चुकी है। बाजारों में दुकानें सज गई हैं और लोगों ने खरीदारी भी कर ली है। त्योहार के मौके पर नदियों में स्नान करने के बाद लोग तिल व चावल के साथ ही उड़द का दान करें। चिउड़ा और दही खाकर त्योहार मनाएंगे। बड़े-बुजुर्ग जहां पवित्र नदियों में स्नान आदि करने के लिए डुबकी लगाएंगे। जनपद के युवा चर्चित हस्तियों के नाम से बने पतंगों के जरिए आसमान में युद्ध कराएंगे।

Posted By: Arti Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस