इंदौर, जेएनएन। धर्म परिवर्तन और फिर शारारिक शोषण... लव जिहाद का एक और मामला सामने आया है। दरअसल, इंदौर में उत्तर प्रदेश की फार्मा कंपनी के मैनेजर ने पहले तो नाम और धर्म बदला उसके बाद कई प्रतिष्ठित परिवारों की लड़कियों के साथ संबंध बनाए। हालांकि, इस एक होटल मैनेजर की बेटी ने 

उसके खिलाफ फरवरी में ही मामला दर्ज करवा दिया था। राजेंद्रनगर पुलिस ने दुष्कर्म के आरोपी को उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार कर लिया है। टीआई सुनील शर्मा ने बताया कि फरवरी 2019 में एक युवती की शिकायत पर आरोपी दिनेश उर्फ राज उपाध्याय (33) पिता सईद अली निवासी जाजमऊ (कानपुर यूपी) के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया था। मंगलवार को पुलिस ने आरोपी दानिश को गिरफ्तार किया और गुरुवार को उसे कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया। 

पीड़िताओं ने आपबीती सुनाते हुए बताया कि आरोपी समीर दुबे, बॉबी शर्मा, अनूप दीक्षित, राज उपाध्याय व जॉन सलूजा के नाम से पहले तो लड़कियों से दोस्ती करता था फिर दुष्कर्म। बदनामी के डर से कई पीड़िताओं ने उसके खिलाफ शिकायत दर्ज नहीं करवाई। महिला थाने में भी उसके खिलाफ शिकायत दर्ज है। आरोपी ने दवाई देने के बहाने मिला था। उससे दोस्ती की और फिर नाम और धर्म बदलकर शादी कर ली। जैसे ही असलियत सामने आई उसने पीड़िता से निकाह कर लिया। उसका गर्भपात करवाया और कुछ दिनों बाद छोड़कर भाग गया।

पुलिस के मुताबिक, अब जिस महिला ने उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है उसका पिता नामी होटल मैनेजर हैं। पीड़िता ने ही पुलिस को बताया कि दानिश मल्टीनेशनल फार्मा कंपनी का मार्केटिंग मैनेजर है। उसने महिला के साथ राज उपाध्याय नाम बताकर दोस्ती की और कहा कि वह मूल रूप से मुंबई का रहने वाला है। उसने लड़की के परिवार वालों से मुलाकात भी की और वर्ष 2016 में सगाई कर शारीरिक संबंध बनाया। पिछले साल दीपावली पर महिला ने किसी काम से दानिश का बैग चेक किया तो उसे उसकी आइडी मिली। उसके बाद दानिश ने शादी करने से साफ मना कर दिया और वह मेरछ भाग आया। पीड़िता उसे ढुंढते हुए कानपुर पहुंची साथ ही उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। मामले की जानकारी मिलते ही आरोपी के पिता और भाई ने उसे धमकाया। वहीं जैसे ही लव जिहाद की भनक हिंदूवादियों को मिली उन्होंने खूब हंगामा किया। पुलिस ने सईद व उसके बेटे को हिरासत में लिया और दानिश की जानकारी इंदौर पुलिस को दी।

महिलाओं ने एसआई पर लगाया आरोप
पीड़िताओ ने एसआई सुषमा पटोलिया पर आरोप लगाया कि उन्होंने महज नाम के लिए पूछताछ की गई। साथ ही उन्होंने कहा के एसआई ने आरोपी को थाने में वीआईपी सुविधाएं मुहैया कराई। इस दौरान परिजन व रिश्तेदार उससे मिलने भी जाते रहे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Edited By: Ayushi Tyagi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट