नई दिल्ली, जेएनएन। लोकसभा चुनाव का रिजल्ट आ जाने के बाद अब ऐसी चर्चा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी छुट्टियां मनाने कहीं विदेश जा सकते हैं। उनके छुट्टी पर जाने पर अक्सर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह चुटकी ले लेते हैं, इससे पहले भी वो राहुल गांधी के विदेश दौरे पर जाने पर तंज कर चुके हैं। उन्होंने कहा था कि जैसे ही तापमान बढ़ता है या किसी चुनाव का रिजल्ट आता है, राहुल गांधी छुट्टी मनाने के लिए निकल जाते हैं। अब गुरूवार को आए लोकसभा चुनाव के रिजल्ट के बाद अब ये आम चर्चा है कि राहुल गांधी जल्द ही लंबी छुट्टी पर विदेश जा सकते हैं। सूत्रों के अनुसार चुनाव में मिली हार के बाद अब अगले 10 दिनों के अंदर CWC की बैठक होगी, इसी बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर बड़ा फैसला लिया जा सकता है। उसके बाद राहुल गांधी कहीं न कहीं घूमने के लिए चले जाएंगे। 

 

इससे पहले जुलाई माह में पांच राज्यों में चुनाव के लिए प्रचार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा और उनके बच्चों के साथ छुट्टी मनाने के लिए हिमाचल प्रदेश के शिमला चले गए थे। वो सड़क मार्ग से शिमला पहुंचे थे। यहां उन्होंने अपनी बहन प्रियंका का निर्माणाधीन मकान भी देखा था। 

इससे पहले वो जून माह में विदेश दौरे पर जा चुके हैं। उस दौरान वो छुट्टियां मनाने अपनी नानी के घर गए थे। राहुल ने खुद इसकी जानकारी टि्वटर के माध्यम से दी थी। ट्विटर पर उन्होंने लिखा था कि अपनी नानी और अन्य परिवार के लोगों से मिलने के लिए कुछ दिनों के लिए यात्रा पर रहूंगा। उनके साथ कुछ वक्त बिताऊंगा।' ये बात अलग है कि उनका नानी का घर इटली में है, यानि वो गर्मियों की छुट्टियां अपनी नानी के घर मनाएंगे और शायद वो अपना बर्थडे जो कि 19 जून को होता है, वो भी वहीं मनाएंगे। 

चुनाव में जीत या हार मिलने के बाद राहुल के विदेश के दौरे पर जाने पर अमित शाह शुरू से ही मजे लेते रहे हैं। उन्होंने बताया कि जब राहुल विदेश चले जाते हैं तो उनकी मां को भी पता नहीं होता, बेटुआ कहां चला गया ... फिर छुटि्टयां काटने राहुल बाबा विदेश निकल जाते हैं। मां को भी नहीं पता होता कि बेटुआ चला कहां गया।

वैसे तो अपनी नानी के घर या विदेश कोई भी जा सकता है। पर बात जब देश के सबसे बड़े राजनीतिक घराने की हो तो मामला और भी दिलचस्प हो जाता है। यहां बात राहुल गांधी की छुट्टियों पर जाने की हो रही है। राहु्ल गांधी जब-जब छुट्टियों पर जाते हैं तो सियासी गलियारे से लेकर सोशल मीडिया तक में चर्चा शुरू हो जाती है। 

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी जितना अपने बयानों के लिए सुर्खियां नहीं बटोरते हैं उससे कहीं अधिक चर्चाएं उनकी छुट्टियों की होती हैं। यही सबसे बड़ा कारण है कि आलोचनाएं चाहें जितनी भी हों, लोग चाहें उनका जितना भी अधिक मजाक उड़ाएं लेकिन वह न तो बयान देना छोड़ते हैं और न ही छुट्टियों पर जाना। 

इससे पहले राहुल गांधी कब कब ऐन मौके पर विदेशी दौरे पर गए थे, पढ़े डिटेल 

- पिछले साल दिसंबर में जब कांग्रेस पार्टी नोटबंदी को लेकर विरोध कार्यक्रमों की धार तेज कर रही थी, राहुल ठीक उसी वक्त विदेश चले गए थे और उनकी गैरमौजूदगी ने इस कार्यक्रम को फीका कर दिया था। 

- पिछले ही साल जब देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव का माहौल बना हुआ था ठीक उसी समय राहुल गांधी अपनी खाट सभाओं को छोड़कर नए साल की छुट्टियां मनाने लंदन चले गए थे। 

- यही नहीं 2015 में बिहार चुनाव के ठीक पहले राहुल गांधी फ्रांस चले गए थे। 

- राहुल की सबसे चर्चित छुट्टी फरवरी 2015 की थी, जब राहुल गांधी अचानक देश से बाहर चले गए थे और जब वे 57 दिन बाद दिल्ली लौटे तो पता चला कि वह बैंकाक, म्यामांर घूमने गए थे और उन्होंने ध्यान करना भी सीखा। उस वक्त विपक्ष ने मजाक भी बनाया था कि 2014 की शर्मनाक हार के बाद उनका झुकाव आध्यात्म की ओर हो गया है। 

- राहुल गांधी नवंबर 2014 में अचानक गायब हो गए थे। सवाल संसद तक में उठा तो कांग्रेस को बचाव में उतरना पड़ा था और अमेरिका के एक सेमिनार की फोटो जारी की गई और कहा गया कि वह बिना बताए नहीं गए हैं उनका कार्यक्रम पहले से तय था और पार्टी को पूरी जानकारी दी गई थी। 

- राहुल गांधी 2014 के लोकसभा चुनाव के ठीक पहले गुप्त स्थान पर छुट्टियां मनाने चले गए थे इसी बीच एक खुली जीप पर घूमते राहुल की फोटो सामने आई थी और बताया गया था कि यह रणथंभौर के नेशनल पार्क की है। 

- उत्तराखंड बाढ़ के समय जून 2013 में भी राहुल गांधी विदेश में छुट्टी मना रहे थे, उस वक्त वहां उन्हीं की सरकार थी। 

- साल 2012 में हद तब हो गई थी जब वे नए साल की छुट्टियां मनाने फ्रांस चले गए थे जिसमें एक फोटो में वो एक युवती के साथ दिखाई दिए थे।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vinay