जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के बाद अब मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी का इस्तीफा मांग रही कांग्रेस को भाजपा हर मोर्चे पर जवाब देने की तैयारी में जुट गई है। एक तरफ जहां सरकार में नंबर दो व केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने स्पष्ट कर दिया है कि कोई इस्तीफा नहीं होगा। वहीं भाजपा कांग्रेस को उनके नेताओं का पुराना इतिहास याद दिलाकर चुप कराएगी। स्मृति की डिग्री को लेकर छिड़े विवाद के बीच भाजपा ने याद दिलाया कि टाइपिंग की ऐसी गलती कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी के नामांकन पत्र में भी हुई थी।

दिल्ली कोर्ट ने स्मृति के चुनावी हलफनामे में अलग-अलग शैक्षणिक योग्यता दिखाए जाने के मामले को संज्ञान में लिया है। याचिकाकर्ता से सबूत पेश करने को कहा गया है। आप नेता जितेंद्र तोमर की फर्जी डिग्री मामले के बाद जाहिर तौर पर विपक्ष ने स्मृति के खिलाफ दबाव बढ़ाया है। लेकिन सरकार दबाव में नहीं है। इसका संकेत उस वक्त मिल गया जब मीडिया से रूबरू केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बिना कोई नाम लिए यह कह दिया, इस सरकार में कोई इस्तीफा नहीं होगा..। आगे एक दूसरे मंत्री रविशंकर प्रसाद नेे जोड़ दिया कि 'संप्रग की तरह इस सरकार में कोई मंत्री गलत हरकत भी नहीं करता है।

दूसरी तरफ संगठन की ओर से बयान देते हुए भाजपा के राष्ट्रीय सचिव श्रीकांत शर्मा ने कांग्र्रेस पर पलटवार किया। उन्होंने कहा, 'कांग्र्रेस बिना होमवर्क के आती है। वह भूल गई कि नामांकन पत्र में टाइप की गलती भी हो सकती है। सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नामांकन पत्र में भी तो शैक्षणिक योग्यता को लेकर गलत जानकारी दी गई थी। जबकि आम आदमी पार्टी के पूर्व मंत्री का मामला धोखाधड़ी व फर्जीवाड़ा का था। स्मृति ईरानी का मामला भूल का है। वह भी बहुत पुराना और वर्षों से सार्वजनिक जानकारी में है।

संकेत स्पष्ट है कि भाजपा और सरकार किसी दबाव में आना नहीं चाहते। हालांकि विपक्ष मानसून सत्र को इन्हीं मुद्दों पर हंगामेदार बनाने की तैयारी करेगा। लेकिन सरकार झुकने के बजाय आक्रामक रहेगी।

यह कांग्रेस की सरकार नहीं, राजग की सरकार है, हमारे मंत्रियों को इस्तीफा देने की जरूरत नहीं
-राजनाथ सिंह, गृह मंत्री

पढ़ेंः शिवसेना ने मारिया का किया बचाव, केंद्र व भाजपा पर बोला हमला

पढ़ेंः मोदी-दुष्यंत मामले में जांच जारी रहेगी

Edited By: Rajesh Niranjan

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट