Move to Jagran APP

Kuwait Fire: कुवैत से केरल लाए गए 45 भारतीयों के शव, कोच्चि हवाई अड्डे पर पहुंचे केंद्रीय मंत्री सुरेश गोपी

Kuwait Fire कुवैत की इमारत में लगी भीषण आग में जलकर मरे 45 भारतीयों के पार्थिव शरीर भारत लाए गए हैं। शवों को विशेष विमान से कोच्चि एयरपोर्ट लाया गया जहां पहले से एंबुलेंस तैनात थी। पार्थिव शरीर कोच्चि हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद अब उन्हें अलग-अलग एंबुलेंस से परिवारों को सौंपा जाएगा। केंद्रीय मंत्री सुरेश गोपी भी कोच्चि एयरपोर्ट पहुंच गए हैं।

By Agency Edited By: Mahen Khanna Fri, 14 Jun 2024 10:59 AM (IST)
Kuwait Fire कुवैत से भारतीयों के शव लाए गए।

एर्नाकुलम, कोच्चि। कुवैत अग्निकांड में मारे गए 45 भारतीयों के पार्थिव शरीर भारत लाए गए हैं। शवों को विशेष विमान से कोच्चि एयरपोर्ट लाया गया, जहां पहले से एंबुलेंस तैनात थी। पार्थिव शरीर कोच्चि हवाई अड्डे पर पहुंचने पर एर्नाकुलम रेंज के डीआईजी पुट्टा विमलादित्य ने कहा कि हमने शवों को प्राप्त करने के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं पहले ही कर ली थी। 

केरल और तमिलनाडु से हैं ज्यादातर मृतक

डीआईजी ने कहा कि हमने पीड़ितों के परिवार के सदस्यों के साथ समन्वय किया है। शव प्राप्त होने के बाद उन्हें उचित तरीके से संबंधित स्थानों पर ले जाया जाएगा। बता दें कि 23 शव केरल के हैं, 7 तमिलनाडु के और 1 कर्नाटक का है। प्रत्येक शव के लिए एक समर्पित वाहन उपलब्ध कराया गया है।

केरल के मंत्री भी एयरपोर्ट पहुंचे

उधर, केरल के राजस्व मंत्री के. राजन कोचीन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे, जहां कुवैत में आग की घटना में 45 भारतीयों के पार्थिव शरीर को लेकर भारतीय वायुसेना का विशेष विमान पहुंचा।

सुरेश गोपी बोले- भारत सरकार करेगी हर संभव मदद

केंद्रीय मंत्री सुरेश गोपी भी कोच्चि एयरपोर्ट पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि यह त्रासदी इतनी बड़ी है कि यह प्रवासी समुदाय पर आघात है। उन्होंने कहा कि इन्हीं लोगों ने केरल की आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने में मदद की। व्यक्तिगत क्षति हर घर की है जो इस त्रासदी से प्रभावित हुआ है। सुरेश गोपी ने कहा कि भारत सरकार उचित कार्रवाई और निर्णय लेगी और बहुत उचित राहत प्रदान करेगी।

इमारत में आग लगने से गई 45 भारतीयों की जान

बता दें कि कुवैत के अहमदी प्रांत के दक्षिणी मंगाफ की एक इमारत में लगी भीषण आग में 49 लोगों की मौत हो गई थी, इसमें 45 भारतीय हैं, जिनके शव विमान से आज भारत लाए गए हैं।