हैदराबाद, आइएएनएस। आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कोनिजेती रोसैया का शनिवार को निधन हो गया। सूत्रों ने कहा कि पल्स रेट में गिरावट के बाद, रोसैया को परिवार के सदस्यों द्वारा अस्पताल ले जाया गया, लेकिन इलाज के दौरान उन्होंने कोई रेसपोन्स नहीं दिया और उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। 

पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करते हुए पूर्व सीएम को याद किया। पीएम मोदी ने कहा, 'के. रोसैया गारू के निधन से दुखी हूं। मुझे उनके साथ अपनी बातचीत याद आती है जब हम दोनों ने मुख्यमंत्रियों के रूप में कार्य किया और बाद में जब वे तमिलनाडु के राज्यपाल थे। जनसेवा में उनके योगदान को याद किया जाएगा। उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना। ओम शांति।'

रोसैया ने एक हेलीकाप्टर दुर्घटना में वाईएस राजशेखर रेड्डी की मृत्यु के बाद मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी, रोसैया ने 3 सितंबर, 2009 से 24 नवंबर, 2010 तक आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया था।

मुख्यमंत्री के रूप में पद छोड़ने के बाद, उन्होंने 2011 से 2016 तक तमिलनाडु के राज्यपाल के रूप में अपनी सेवा दी। तमिलनाडु के राज्यपाल बनने से पहले उन्होंने कर्नाटक के राज्यपाल के रूप में भी दो महीने तक काम किया था।

इससे पहले, उन्होंने वित्त मंत्री के रूप में कार्य किया था और उन्हें रिकार्ड 15 बार राज्य का बजट पेश करने का गौरव प्राप्त है। 1933 में जन्मे रोसैया ने 1968 में आंध्र प्रदेश विधान परिषद के सदस्य के रूप में अपनी विधायकी यात्रा शुरू की। उन्होंने आंध्र प्रदेश विधानसभा में चिराला का प्रतिनिधित्व भी किया है।

मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी ने रोसैया के निधन पर दुख व्यक्त किया है और शोक संतप्त परिवार के सदस्यों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

Edited By: Nitin Arora