कासरगोड, पीटीआइ। गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान बुधवार को केरल में एक मंत्री ने राष्ट्रीय ध्वज उल्टा फहरा दिया, जिससे राजनीतिक विवाद शुरू हो गया। भाजपा ने तिरंगे के प्रति अनादर दिखाने के लिए उनके इस्तीफे की मांग की। यह घटना उस वक्त हुई जब प्रदेश के बंदरगाह और पुरातत्व विभाग के मंत्री अहमद देवरकोविल (Kerala Minister Ahamed Devarkovil) ने झंडा फहराया। वह जिला मुख्यालय में गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि थे।

दिलचस्प बात यह है कि इस मौके पर मौजूद मंत्री, जनप्रतिनिधियों, पुलिस अधिकारियों और अन्य व्यक्तियों सहित किसी ने भी इस चूक पर ध्यान नहीं दिया। कार्यक्रम को कवर करने के लिए वहां मौजूद कुछ मीडिया कर्मियों ने गलती की ओर इशारा किया। फिर मंत्री (Kerala Minister Ahamed Devarkovil) शीघ्र ही वापस आए और सही ढंग से फिर से फहराया।

इस बीच, भाजपा के राज्य प्रमुख के सुरेंद्रन ने देवरकोविल (Ahamed Devarkovil) के इस्तीफे की मांग की। इसके साथ ही उनके और तिरंगे का अनादर करने वाले संबंधित अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज करने की भी मांग की। कांग्रेस नेता और सांसद राजमोहन उन्नीथन ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया और सरकार से कार्रवाई की मांग की।

बुधवार को 73वां गणतंत्र दिवस पूरे देश में मनाया गया। गणतंत्र दिवस के मौके पर कई राज्यों ने लोककल्याण के लिए कई घोषणाएं भी कीं। हरियाणा के मुख्यमंत्री ने इस मौके पर सभी से राज्य से बेरोजगारी को खत्म करने की अपील की। वहीं झारखंड में पेट्रोल सब्सिडी योजना की शुरुआत की गई।

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा, श्रमिकों की पहली दो बेटियों की शिक्षा और रोजगार के लिए योजना लांच की जाएगी। साथ ही उन्होंने राज्य कर्मचारियों के लिए फाइव डे वीक का आश्वासन भी दिया। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने इंदौर में ध्वजारोहण किया। इस मौके पर उन्होंने शराब जैसी सामाजिक बुराई को जड़ खत्म करने की बात कही।

Edited By: Krishna Bihari Singh