जयपुर, जागरण संवाददाता। फिल्‍ममेकर संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावत' के रिलीज होने पर अब महिलाओं ने जौहर करने की चेतावनी दी है। इन महिलाओं ने चित्तौड़गढ़ किले के उसी स्थान पर जौहर की चेतावनी दी है, जहां रानी पद्मनी ने 16 हजार रानियों और दासियों के साथ जौहर किया था।

शनिवार को चित्तौड़गढ़ में सर्व समाज की बैठक में काफी संख्या में महिलाएं भी शामिल हुर्इं। इस बैठक में महिलाओं ने साफ कहा कि यदि देश में कहीं भी 'पद्मावत' रिलीज हुई, तो महिलाएं जौहर करेंगी। बैठक में राजपूत समाज की महिलाओं के साथ ही अन्य समाजों की महिलाएं भी काफी बड़ी संख्या में शामिल हुई।

बैठक में तय किया गया कि 17 जनवरी से राजमार्ग जाम करने के साथ ही रेल यातायात भी अवरूद्ध किया जाएगा। सर्व समाज का एक प्रतिनिधमंडल रविवार को दिल्ली जाकर केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात करेगा। राजनाथ सिंह से देशभर में फिल्म के प्रदर्शन पर रोक की मांग की जाएगी।

 

श्री राजपूत करणी सेना के संरक्षक लोकेन्द्र सिंह कालवी ने बताया कि शनिवार को चित्तौड़गढ़ की बैठक में हुआ फैसला राजपूत समाज ने ही नहीं, बिल्क सभी समाजों ने मिलकर किया है। उन्होंने कहा कि करणी सेना ने पहले 25 और 26 जनवरी को भारत बंद की योजना बनाई थी, लेकिन इस दिन गणतंत्र दिवस होने के कारण अब स्‍थगित कर दी गई है। अब आंदोलन 17 जनवरी से ही शुरू होगा।

चित्तौड़गढ़ जौहर स्मृति संस्थान के महामंत्री भंवर सिंह ने बताया कि एक बार फिर चित्तौड़गढ़ किला बंद करने की तैयारी की जा रही है। सर्व समाज और जौहर स्मृति संस्थान इससे पहले भी चित्तौड़गढ़ किले को दो दिन तक बंद कर चुका है, जिसके कारण हजारों पर्यटकों को वापस लौटना पड़ा था। उल्लेखनीय है कि 'पद्मावत' को सेंसर बोर्ड से रिलीज के लिए हरी झंडी मिल गई है। फिल्‍म को आवश्यक बदलाव के बाद 25 जनवरी को रिलीज करने की तैयारी की जा रही है।

यह भी पढ़ें: फिल्म पद्मावती के विरोध पर करणी सेना को कराची से धमकी

Posted By: Tilak Raj