कर्नाटक, एएनआइ। कार्नाटक में एक अफ्रीकी छात्र की पुलिस हिरासत में मौत हो जाने से अफ्रीकी लोगों में रोष देखने को मिल रहा हैं। बेंगलुरु में कांगो समुदाय के उपाध्यक्ष अलिकाली ने बताया कि पुलिस ने एक अफ्रीकी छात्र को रविवार के दिन लगभग 1 बजे हिरासत में लिया था, जिसके बाद आज उनकी आकस्मिक निधन की खबर मिल रही है। जब छात्र को हिरासत में लिया जा रहा था तब वह पूरी तरह से स्वस्थ था। लोगों ने पुलिस के खिलफ अपना विरोध किया क्योंकि लोगों को लगता है कि पुलिस की बर्बरता की वजह से उनके साथी की जान गई है।

जेसी नगर पुलिस के अनुसार उन्होंने छात्र को छुआ तक नहीं था। छात्र की मौत दिल का दौरा पड़ने की वजह से हुई है। पुलिस की इस सफाई पर छात्र की प्रेमिका सहित दूसरे अफ्रीकी नागरिक पुलिस द्वारा की गई इस बर्बरता पर संदेह कर रहे हैं। उपाध्यक्ष अलिकाली ने कहा कि वह लोग शिकायत दर्ज करने की योजना बना रहे हैं और यह हम लोगों द्वारा स्वीकार्य नहीं किया जाएगा कि एक स्वस्थ व्यक्ति कैसे मर सकता है। हम इस पूरे मामले की एक स्पष्ट तस्वीर चाहिए।

छात्र का नाम जॉन उर्फ जोएल मालू बताया जा रहा है और उसे पुलिस ने नशीली दवाओं की खरीद फरोख के आरोप में पकड़ा था। पुलिस हिरासत में उसके सिने में दर्द होने के बाद उसे अस्पताल लाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। मौत की जांच अब सीआइडी कर रही है। सीआइडी अधिकारियों की एक टीम बयान दर्ज करने के लिए जेसी नगर पुलिस स्टेशन गई थी। छात्र की मौत के बाद से बेंगलुरु में अफ्रीकी नागरिकों ने उग्र विरोध प्रदर्शन किया, जिसके बाद पुलिस को हालात को संभालने के लिए लाठीचार्ज का सहारा लेना पड़ा।

आपकों बता दें कि अप्राकृतिक मौत का मामला सीआरपीसी की धारा 176 के तहत दर्ज किया गया है। कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य का रहने रहने वाला यह छात्र जोएल छात्र वीजा पर बेंगलुरु आया था। जानकारी के मुताबिक छात्र का वीजा 20/07/2015 को खत्म हो गया था और उसका पासपोर्ट 13/12/2017 को खत्म हो गया था।

Edited By: Avinash Rai