नई दिल्ली, एजेंसी। किसान आंदोलन की आड़ में टेलीकॉम कंपनियों में ग्राहकों को खींचने के लिए प्रतिस्पर्धा शुरू हो गई है। इसी कड़ी में रिलायंस जियो ने टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (ट्राई) को पत्र लिखकर टेलीकॉम कंपनियों वोडा-आइडिया (Voda-Idea) और एयरटेल (Airtel) को लेकर शिकायत की है। जियो ने आरोप लगाया है कि टेलीकॉम कंपनियां एयरटेल और वोडा-आइडिया पंजाब और हरियाणा के किसानों के  दिल्ली में चल रहे आंदोलन का फायदा उठा रही हैं। टेलीकॉम सचिव एसके गुप्ता को लिखे पत्र में रिलायंस जियो ने एयरटेल और वोडा-आइडिया को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा है कि दोनों कंपनियों ने ट्राई नियमों का उल्लंघन किया है।

टेलीकॉम कंपनियां कर रही हैं झूठा प्रचार 

पत्र में इन कंपनियों पर आरोप लगाया गया है कि एयरटेल और वोडा-आइडिया उत्तर भारत के विभिन्न हिस्सों में ग्राहकों को खींचने के लिए अनर्गल रास्ते अपना रहे हैं। किसान आंदोलन का फायदा उठाने के लिए यह टेलीकॉम कंपनियां झूठे प्रचार कर रही हैं। जियो का कहना है कि इससे पहले 28 सितंबर को भी उसने ट्राई को एक अन्य पत्र लिखकर आपत्ति दर्ज कराई थी। पर इसके बावजूद यह दोनों कंपनियों ने ट्राइ के कानून को ढेंगा दिखा कर अपने स्तर पर नकारात्मक प्रचार पर कर रही हैं।

जियो ने ट्राइ को पत्र लिखकर आरोप लगाया कि यह दोनों कंपनियां अपने कर्मचारियों, एजेंट्स और रिटेलर्स के जरिए रिलायंस जियो के विरूद्ध नकारात्मक अभियान चला रही हैं। ग्राहकों को लालच देकर रिलायंस जियो से पोर्ट कराने की कोशिश कर रही हैं। रिलांयस जियो ने ट्राई को फोटो और वीडियो सूबूत भी सौंपे हैं। इसमें आरोप लगाया गया है कि कपंनियां एयरटेल और वोडा आइडिया ग्राहकों को गुमराह कर रही हैं। 

रिलांयस जियो की शिकायत पर एयरटेल ने आरोपों को खारिज किया है। कंपनी ने कहा कि एयरटेल ने टेलीकॉम उद्योग में 25 साल तक संचालन किया। इस दौरान ग्राहकों को कंपनी ने अच्छी सेवा दी। इस दौरान कंपनी ने अपने प्रतिद्वंद्वी कंपनियों को भी पूरा सम्मान किया।

 

Edited By: Arun Kumar Singh