अहमदाबाद शत्रुघ्न शर्मा। पोरबंदर स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जन्मस्थली कीर्ति मंदिर में इन दिनों उनसे जुड़ी वस्तुओं व तस्वीरों की एक प्रदर्शनी लगाई गई है।

इसमें गांधीजी के साथ देश व दुनिया के कई आला नेता, समाज सुधारक, वैज्ञानिक व विशिष्ट व्यक्तियों की उनके साथ ली गई तस्वीरें हैं। इनमें उनके साथ पाकिस्तान के निर्माता मुहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर भी है। इसे लेकर कई गांधीवादी नाराज हैं।

अलग-अलग तस्वीरों में जवाहर लाल नेहरू, लौहपुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल, नेताजी सुभाष चंद्र बोस सहित अन्य नेता भी हैं। पाकिस्तान के निर्माता मुहम्मद अली जिन्ना के साथ वाली फोटो पर बाहर से प्रदर्शनी देखने आए कई दर्शकों ने भी विजिटर बुक में आपत्ति जताई है। जिन्ना के कारण ही भारत का विभाजन हुआ व धर्म के आधार पर पाकिस्तान का निर्माण हुआ।

देश के साथ इस तरह की सौदेबाजी करने वाले के साथ महात्मा गांधी की तस्वीर यहां आने वालों को असहज कर देती है, जिसका उन्होंने बुक में उल्लेख किया है। संचालक समिति का तर्क है कि प्रदर्शनी में गांधीजी के साथ दुनिया के कई नेताओं की तस्वीरें हैं जिनमें एक जिन्ना भी हैं, इसमें उन्हें कुछ गलत नजर नहीं आता।

गुजराती थे जिन्ना

जिन्ना भी मूल रूप से गुजराती थे और लोहाणा जाति के थे। उनके पिता जिन्हामभाई पुंजा गुजराती व्यापारी थे जबकि दादा पुंजा गोकलदास मेघजी थे। जिन्ना के परिवार का संबंध हिंदू लोहाणा जाति से था। धर्म परिवर्तन कर जिन्ना मुस्लिम बन गए थे। मध्य गुजरात के जामजोधपुर का पानेली उनका मूल गांव है। वह सात भाई बहनों में सबसे बड़े थे।

पढ़ें: महात्मा गांधी का सच्चा सपना जी रहे मोदी: तारा गांधी

Posted By: Murari sharan