श्रीनगर, जेएनएन। पुलवामा जैसे आतंकी हमले को दोहराने के लिए एक बड़े आइईडी (इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस) धमाके को अंजाम देने की साजिश में जुटे आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन का एक मंसूबा बुधवार को पुलिस ने नाकाम बना दिया।

पुलिस ने आइईडी तैयार करने में जुटे हिज्ब के पांच आतंकियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से भारी मात्रा में विस्फोटक और आइईडी तैयार करने का सामान बरामद किया है। पकड़े गए पांचों आतंकियों से पूछताछ जारी है। पकड़े गए युवकों ने माना है कि उन्हें दो जगहों पर अलग-अलग आइईडी लगानी थी। एक आइईडी हाईवे पर सुरक्षाबलों के काफिले को निशाना बनाने के लिए थी और एक अन्य किसी भीड़ भरे इलाके में धमाके के लिए बनाई जानी थी।

पिछले सप्ताह पाकिस्तान ने भारत सरकार को अलर्ट किया था कि दक्षिण कश्मीर में आतंकी संगठन 14 फरवरी को लिथपोरा पुलवामा जैसा कोई हमला दोहराने की फिराक में है। सोमवार को आतंकियों ने अरिहाल पुलवामा में एक सैन्य वाहन को वाहन बम से उड़ाने का प्रयास किया था, लेकिन नाकाम रहे। इस हमले में दो सैन्यकर्मी शहीद हो गए और 17 जख्मी हुए थे।

सोमवार की साजिश के नाकाम होने के बाद आतंकी एक बार फिर किसी बड़े धमाके की साजिश में जुटे हुए थे। इस बीच पुलिस ने सोमवार को अरिहाल हमले में लिप्त आतंकियों को पकड़ने के लिए अपने तंत्र को पूरी तरह सक्रिय कर रखा था। इसके अलावा पुलिस ने कुछ दिन पहले आतंकी कमांडर नवीद के सोशल मीडिया पर वायरल हुए उस वीडियो की भी छानबीन की, जिसमें वह आइईडी तैयार करता नजर आ रहा था।

संबंधित अधिकारियों ने बताया कि गत शाम पुलिस को पता चला कि शोपियां के जेनपोरा व उसके साथ सटे इलाकों में कुछ आतंकी आइईडी तैयार करने में जुटे हुए हैं। पुलिस ने इन आतंकियों को पकड़ने के लिए सेना व सीआरपीएफ के जवानों के साथ मिलकर मंगलवार शाम एक अभियान चलाया और बुधवार सुबह तक पांच आतंकियों को उनके ठिकानों से पकड़ लिया गया।

इनके पास से भारी मात्रा में विस्फोटक, आइईडी तैयार करने का सामान, आतंकी साहित्य व और अन्य साजो सामान मिला है। शुरुआती पूछताछ में सभी ने आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के साथ अपने संबंधों को स्वीकारा है। फिलहाल, पांचों से पूछताछ जारी है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप