नई दिल्ली। तेलंगाना को लेकर संसद में दिखे आक्रोश के बीच वाइएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष जगन मोहन रेड्डी ने भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह से मुलाकात कर एकीकृत आंध्रप्रदेश के लिए समर्थन मांगा। राजनाथ ने तेलंगाना के प्रति पार्टी का संकल्प दोहराते हुए उन्हें भरोसा दिलाया कि सीमांध्र के लिए भाजपा उचित मुआवजे की मांग करेगी।

चुनावी माहौल में यूं तो हर मुलाकात का राजनीतिक महत्व है, बताते हैं कि शुक्रवार की सुबह हुई दोनों नेताओं की बैठक में तेलंगाना मुख्य मुद्दा था। गौरतलब है कि सरकार तेलंगाना का विरोध कर रहे 16 सदस्यों को सदन से निलंबित कर चुकी है। उसमें जगन भी शामिल हैं। सरकार की पूरी तैयारी है कि वह इस सत्र में तेलंगाना गठन के विधेयक को पारित करवाए। ऐसे में जगन ने राजनाथ से मदद मांगी जो संभव नहीं है।

इधर सूत्रों की मानी जाए तो सीमांध्र में तालमेल को लेकर टटोलने की कोशिश हुई। ध्यान रहे कि सीमांध्र में तेलुगु देसम पार्टी (टीडीपी) पहले ही भाजपा के साथ आने को तैयार है लेकिन फिलहाल वहां जगन का प्रभाव ज्यादा है। ऐसे में यह भरोसा दिया गया कि राजग सीमांध्र को विशेष मदद दिए जाने के पक्ष में है। जाहिर है कि आगामी सरकार की भूमिका अहम होगी।

आंध्र का विभाजन रुकवाने को जगन ने दी राष्ट्रपति के पास दस्तक

शुक्रवार की सुबह ही राकांपा नेता डीपी त्रिपाठी ने भी राजनाथ से मुलाकात की। बताते हैं कि वह सोमवार को लंच के लिए निमंत्रण देने आए थे। ध्यान रहे कि पिछले दिनों राकांपा और भाजपा में भी दोस्ती बढ़ने की अटकलें तेज रही थी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस