नई दिल्‍ली (जेएनएन)। माग्रेट मिशेल की कही हुई पंक्‍ति के साथ मशहूर अभिनेता इरफान खान ने ट्वीट कर अपने गंभीर बीमारी की जानकारी दी है और दुआएं करने को कहा है। 

हालांकि डॉक्‍टरों के अनुसार समय पर जानकारी से इस बीमारी का इलाज संभव है। डॉक्‍टरों के अनुसार, यह एक तरह का कैंसर है जिसके पूरे शरीर में फैल जाने के बाद खतरा हो सकता है पर उसके पहले इलाज संभव है। बता दें कि स्‍टीव जॉब को भी ये बीमारी हुई थी।

इरफान ने कहा, ‘हम जो उम्‍मीद करते हैं उसे पूरा करने के लिए जिंदगी किसी दवाब मे नहीं है, जो हम चाहें वो हमे मिले ही। अप्रत्‍याशित घटनाएं हमें बड़ा करती हैं जो कि पिछले दिनों का मेरा हाल रहा है। डायग्‍नोसिस में न्‍यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर का पता लगने के बाद इसे स्‍वीकार करना काफी मुश्‍किल है। लेकिन आसपास मौजूद प्‍यार और ताकत है जिसे मैं अपने भीतर महसूस करता हूं, इससे उम्‍मीद जगी है। मुझे देश से बाहर जाना पड़ रहा है और मैं हर किसी से आग्रह करता हूं कि वे अपनी दुआएं भेजते रहे। अफवाहों की बात करें तो न्‍यूरो हमेशा दिमाग के बारे में नहीं होता और रिसर्च के लिए गूगल करना सबसे आसान तरीका है। जो मेरे शब्‍दों का इंतजार कर रहे हैं, उम्‍मीद है कि मैं ढेर सारी कहानियां लेकर लौटूंगा।

कैसे होता है ये ट्यूमर

- इसमें हार्मोनल कोशिकाएं और सेंट्रल नर्वस सिस्‍टम की कोशिकाएं ट्यूमर बन जाती हैं।

- हार्मोन उत्‍पन्‍न करने वाली कोशिकाओं से बने होने के कारण एंडोक्राइन ट्यूमर भी हार्मोंस उत्‍सर्जित करती हैं। इसके कारण गंभीर बीमारी हो सकती है।

- 40 से 60 साल की उम्र वाले लोगों को ट्यूमर होने की संभावना होती है और साधारणतया यह पुरुषों में अधिक देखा जाता है।

- इस बीमारी की पहचान- हाई ब्‍लड प्रेशर, सिरदर्द, बेचैनी, बुखार, पसीना आना, उल्‍टी की शिकायत, स्‍किन , धड़कनें तेज होना शामिल होना है।

इरफान खान ने कुछ दिनों पहले ही बताया था कि वह एक रेयर बीमारी के शिकार हो गए हैं। जब से इरफान ने अपनी इस बीमारी के बारे में बताया था, तभी से उनकी सेहत के लिए दुआएं मांगनी शुरू कर दी थीं। इरफान की अगली फिल्‍म 'ब्‍लैकमेल' होगी।

Posted By: Monika Minal