वडोदरा (प्रेट्र)। भारतीय सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल 'ब्रह्मोस' का जीवनकाल बढ़ाने के लिए इस महीने उसका एक परीक्षण किया जाएगा। रक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी है। यह परीक्षण इस मिसाइल की एक्सपायरी डेट को 10 साल से बढ़ाकर 15 साल करने की कवायद का हिस्सा होगा। 

जुलाई के तीसरे हफ्ते में होगा परीक्षण

ब्रह्मोस एयरोस्पेस के प्रमुख सुधीर कुमार मिश्रा ने शनिवार को बताया कि मिसाइल के सेवाकाल को बढ़ाने के लिए यह परीक्षण जुलाई के तीसरे हफ्ते में ओडिशा के चांदीपुर के टेस्ट रेंज में किया जाएगा। उन्होंने यह बयान लार्सन एंड ट्यूब्रो की रक्षा यूनिट के एक नए प्लांट के उद्घाटन कार्यक्रम के बाद दिया। उन्होंने कहा कि इसका मकसद मिसाइल की लाइफ को पांच साल आगे बढ़ाना है।

बता दें कि 'ब्रह्मोस' एयरोस्पेस भारत के रक्षा शोध और विकास संगठन (डीआरडीओ) व रूस के एनपीओएम ने मिलकर बनाया है। यह मिसाइल ध्वनि की आवाज से भी तीन गुना अधिक रफ्तार से उड़ान भरता है। इस परीक्षण से सशस्त्र सेनाओं को अधिक समय के लिए मिसाइल मिल सकेगा।

 

Posted By: Nancy Bajpai

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस