बेंगलुरु, एएनआइ। कर्नाटक के केएसआर बेंगलुरु स्टेशन पर रेलवे का पहला चलता हुआ मीठे पानी की सुरंग में एक्वेरियन खोला गया है। इसे यात्रियों द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है।

भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम (IRSDC) के नोडल अधिकारी सौरभ जैन ने कहा कि इसे (एक्वेरियम) रेलवे स्टेशन तक लाने के हमारे 2 उद्देश्य हैं। सबसे पहले अपने यात्रियों को बहुत मामूली कीमत पर विश्व स्तरीय अनुभव देने के लिए और दूसरा पर्यावरण के प्रति जागरूकता लाने के लिए है।

बेंगलुरु रेलवे स्टेशन पर इस अनुभव के बारे में एक यात्री ने कहा कि हम मछलियों और अन्य जलीय जीवों की विभिन्न प्रजातियों को देखने में सक्षम हैं। यह एक बहुत ही दुर्लभ अनुभव है।

बेंगलुरू में बना पहला सेंट्रलाइज्ड एसी रेलवे स्टेशन

बेंगलुरू में बनकर देश का पहला सेंट्रलाइज्ड एसी रेलवे स्टेशन तैयार है। टर्मिनल में सात प्लेटफॉर्म हैं जो टर्मिनल को प्रतिदिन 50 ट्रेनों के संचालन में सक्षम बनाते हैं। इसे बेंगलुरु अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे की तर्ज पर बेहतरीन लुक दिया गया है। यह स्टेशन 4200 वर्गमीटर में फैला हुआ है। इसे तैयार करने में 314 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं।

केंद्रीय मंत्री गोयल ने मार्च महीने में बताया था कि भारत रत्न सर एम विश्वेश्वरैया के नाम पर बना देश का यह पहला एसी रेलवे टर्मिनल काम करना शुरू कर देगा। इस रेलवे टर्मिनल पर आपको एयरपोर्ट और मेट्रो स्टेशन की तरह एसी की सुविधा मिलेगी। नए कोच टर्मिनल को महानगर के बैयापनहल्ली में बनाने की योजना थी ताकि बेंगलुरू तक ज्यादा एक्सप्रेस ट्रेनें चलाई जा सकें।

लंबी दूरी की चलेंगी ज्यादा ट्रेनें

इसके शुरू होने से बेंगलुरू से मुंबई और चेन्नई जैसे दूसरे महानगरों के लिए लंबी दूरी की ज्यादा ट्रेनों को चलाया जा सकेगा। यही नहीं इस टर्मिनल से बेंगलुरू को भी कर्नाटक के सभी जिलों से जोड़ा जा सकेगा। यही नहीं इससे केएसआर बेंगलुरू और यशवंतपुर स्टेशनों पर भीड़ को कम करने में मदद मिलेगी।

Edited By: Arun Kumar Singh