नई दिल्ली, एजेंसी। भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन यानी की 17 सितंबर को दो करोड़ वैक्सीन लगाने का काम किया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ दैनिक टीकाकरण फिर एक बार एक करोड़ के आंकड़े को पार कर गया है। यह चौथी बार है, जब एक महीने से भी कम समय में एक करोड़ का आंकड़ा पार किया गया हो। इससे भारत में वैक्सीन की दी खुराक की कुल संख्या 79 करोड़ से अधिक हो गई है।

देश में इससे पहले 6 सितंबर, 27 और 31 अगस्त को कोरोना वायरस टीकाकरण का आंकड़ा 1 करोड़ से अधिक रहा था। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि सबसे तेज गति के साथ देश में करोड़ों की संख्या में डोज दिए जा रहे हैं। ट्विटर पर उन्होंने लिखा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर देश में अब तक सबसे तेज 1 करोड़ वैक्सीन लगाने का आंकड़ा पार कर लिया है। मुझे विश्वास है कि आज हम सभी टीकाकरण का नया कीर्तिमान बना कर प्रधानमंत्री मोदी को उपहार के रूप में देंगे।' भाजपा ने देश भर में अपनी इकाइयों से पीएम मोदी के जन्मदिन के मौके पर बड़ी संख्या में लोगों का टीकाकरण कराने में मदद करने को कहा है।

कब लगी कितनी वैक्सीन

मंत्रालय के अनुसार, भारत को 10 करोड़ टीकाकरण का आंकड़ा छूने में 85 दिन, 20 करोड़ का आंकड़ा पार करने में 45 दिन और 30 करोड़ के आंकड़े तक पहुंचने में 29 दिन लगे। बताया गया कि देश को 30 करोड़ खुराक देने के आंकड़े से 40 करोड़ तक पहुंचने में 24 दिन लगे और फिर 6 अगस्त को 50 करोड़ टीकाकरण का आंकड़ा पार करने में 20 दिन लगे।

मंत्रालय ने कहा कि 60 करोड़ के आंकड़े को पार करने में 19 दिन और लगे और 7 सितंबर को 60 करोड़ से 70 करोड़ तक पहुंचने में केवल 13 दिन लगे। इस्तेमाल हुई खुराकों की कुल संख्या 13 सितंबर को 75 करोड़ का आंकड़ा पार कर गई।

कैसे शुरू हुआ वैक्सीनेशन

स्वास्थ्य कर्मियों (HCWs) को पहले चरण में टीका लगाने के साथ देशव्यापी टीकाकरण अभियान 16 जनवरी को शुरू किया गया था। फ्रंटलाइन वर्कर्स (FLWs) का टीकाकरण 2 फरवरी से शुरू हुआ था।

COVID-19 टीकाकरण का अगला चरण 1 मार्च से 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और 45 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों, जिनको हेल्थ से जुड़ी कुछ समस्या थी, के लिए शुरू हुआ। देश ने 1 अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों के लिए टीकाकरण शुरू किया। सरकार ने फिर 1 मई से 18 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण की अनुमति देकर अपने टीकाकरण अभियान का विस्तार करने का निर्णय लिया।

Edited By: Nitin Arora