नई दिल्ली (जेएनएन)। भारत ने सफलतापूर्वक परमाणु सक्षम स्वदेशी अग्नि-I (A) मिसाइल का सफल परीक्षण किया। यह परीक्षण मंगलवार सुबह 8.30 बजे ओडिशा के बालासोर में अब्दुल कलाम आइलैंड पर किया गया। परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम इस मिसाइल का परिक्षण भारतीय स्ट्रेटेजिक फोर्स कमांड द्वारा किया गया।

यह मिसाइल डीआरडीओ द्वारा विकसित की गई है जिसकी मारक क्षमता 700 किमी है। 15 मीटर की ऊंचाई वाली इस मिसाइल में लिक्विड और सॉलिड दोनों तरह के ईंधन का प्रयोग हो सकता है जिसके चलते है एक सेकंड में 2.5 किमी प्रति घंटे की दूरी तय करती है।

बता दें कि हाल में भारत ने अग्नि 5 मिसाइल का सफल परीक्षण किया था। भारत के मिसाइल बेड़े में फिलहाल अग्नि-1, अग्नि-2, अग्नि-3, अग्नि-4 मिसाइलें हैं। जिनकी मारक क्षमता क्रमशः 700 किमी से 3500 किमी की है।

भारत की ताकत से डरेगा दुश्मन

# अग्नि -I (700 किली की मारक क्षमता)

# अग्नि- II (2,000 किली की मारक क्षमता)

# अग्नि- III और अग्नि- IV ( 3,500 किलोमीटर की सीमा से अधिक मारक क्षमता)

# भारत के पास सुपरसोनिक ब्रह्मोस मिसाइलें भी हैं

# हाल ही में 26 दिसंबर, 2016 को भारत ने अग्नि- V का सफल परीक्षण किया 

जानिए अग्नि-I (A) की खासियत 

# इसकी मारक क्षमता 700 किलोमीटर है।

# अग्नि -1 देश की सबसे महत्वाकांक्षी अग्नि श्रृंखला की पहली मिसाइल है जिसे रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा डिजाइन और विकसित किया गया है।

# इस मिसाइल में लिक्विड और सॉलीड दोनों तरह के ईंधन का प्रयोग हो सकता है।

# यह एक सेकंड में 2.5 किमी प्रति घंटे की दूरी तय करती है।

# अग्नि-I की ऊंचाई 15 मीटर है, जिसे दोनों रोड और रेल मोबाइल लॉन्चर से लॉन्च किया जा सकता है

# मिसाइल का वजन करीब 12 टन है।

 

Posted By: Nancy Bajpai