नई दिल्‍ली, एजेंसी। भारत में तीव्र गति से हो रहे टीकाकरण के बीच बुधवार को कोविड-19 से सर्वाधिक मौतों का रिकॉर्ड बना है। एक दिन में कोरोना वायरस से संक्रमित 2,000 से अधिक लोगों की मौत हुई है। मंगलवार को कोरोना वायरस से 1,761 लोगों की मौत हुई थी। यह भी एक रिकॉर्ड था, लेकिन बुधवार को मौत के सारे रिकॉर्ड टूट गए। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय का कहना है कि देश में 24 घंटों के दौरान कोरोना के 2.95 लाख नए मरीज सामने आए हैं। देश में कोरोना के सक्रिय रोगियों की संख्‍या 21 लाख 57 हजार के पार पहुंच गई। इसके साथ 16 लाख से ज्‍यादा लोगों की कोरोना की जांच कराई गई। 24 घंटों के दौरान महाराष्‍ट्र में 519, दिल्‍ली में 277, छत्‍तीसगढ़ में 191 और उत्‍तर प्रदेश में 162 कोरोना पीड़‍ितों की मौत हो चुकी है।

दुनिया में हर चार में से एक कोरोना संक्रमित व्यक्ति भारत का

पिछले साल अक्टूबर के बाद से यह पहला मौका है, जब दुनियाभर के देशों में से भारत में एक दिन के कोरोना संक्रमण के मामले सबसे अधिक थे। दुनियाभर के देशों में रोजाना मिलने वाले कोरोना मरीजों की संख्या की लिस्ट में भारत सबसे आगे है। देश के हालात इतने बुरे हैं कि दुनिया में हर चार में से एक कोरोना संक्रमित व्यक्ति भारत से सामने आ रहा है। भारत प्रतिदिन दुनियाभर में होने वाले नए संक्रमणों की औसत संख्या में सबसे आगे है। हालांकि, भारत में कुल संक्रमितों की संख्या के मामले में दूसरे स्‍थान पर है। कोरोना संक्रमितों की संख्‍या के मामले में अमेरिका अग्रणी राष्‍ट्र बना हुआ है। अमेरिका में 24 घंटे में 1433 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी हे। अमेरिका में मृतकों की संख्या 40 हजार को पार कर गई है और सात लाख 64 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। विशेषज्ञों ने इसके लिए कोरोना के नए वेरिएंट को दोषी बताया है।

US ने भारत की यात्रा नहीं करने की दी सलाह, ब्रिटेन ने रेड लिस्‍ट में डाला

उधर, संयुक्त राज्य अमेरिका ने अपने नागर‍िकों को भारत की यात्रा नहीं करने की सलाह दी है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भले ही आप का टीकाकरण हो चुका हो, लेकिन आप भारत की यात्रा से बचे। भारत में कोरोना रोगियों की बढ़ती संख्‍या के कारण ब्रिटेन ने लाल सूची में डाल दिया है। हांगकांग और न्‍यूजीलैंड ने भारतीय उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा है कि सिंगापुर ने भारतीय यात्रियों के लिए नियमों को कठोर कर दिया है। सिंगापुर जाने वाले भारतीय यात्रियों को 14 दिनों तक क्‍वांरटीन रहना होगा।

कच्‍चे माल की आपूर्ति में बाधा के चलते वैक्‍सीन उत्‍पादन पर पड़ेगा असर

खास बात यह है कि देश में कोरोना वायरस से मौत का रिकॉर्ड ऐसे वक्‍त ऊपर गया है, जब कोरोना वैक्‍सीन बनाने वाली भारतीय दवा कंनियों ने कहा है कि अमेरिका और यूरोपीय देशों से कच्‍चा माल नहीं मिलने के चलते मई में वैक्‍सीन के उत्‍पादन क्षमता पर असर पड़ेगा। हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वैक्‍सीन बनाने वाली दवा कंपनियों को किसी तरह की दिक्‍कत का सामना नहीं करना पड़ेगा। बता दें कि हरिद्वार में चल रहे कुंभ मेला, राजनीतिक रैलियों और सामाजिक उत्‍सवों के चलते कोरोना संक्रमितों की संख्‍या में तेजी से इजाफा हुआ है।

कोरोना रोगियों के लिए बिस्तरों की संख्या में इजाफा

इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि दिल्ली में केंद्र सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों में कोरोना रोगियों के लिए बिस्तरों की संख्या एक मार्च को 510 थी, जो अब चार गुना बढ़कर 2,105 हो गई है। मंत्रालय ने कहा कि इन 2,105 बिस्तरों में से 1,875 आक्सीजन युक्त और 230 आइसीयू बिस्तर हैं। मंत्रालय ने कहा कि वह केंद्र संचालित अस्पतालों में कोरोना मरीजों की खातिर बिस्तरों की संख्या बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। इसके अलावा वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद की मदद से क्षेत्रीय अस्पतालों और अस्थायी चिकित्सा केंद्रों का निर्माण किया जा रहा है। धौलाकुआं में डीआरडीओ की मदद से 250 आइसीयू बेड का संचालन 19 अप्रैल को शुरू हो गया था।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप