नई दिल्‍ली, एएनआइ। दक्षिण-पश्‍चिम मानसून से संबंधित भारतीय मौसम विभाग (IMD) द्वारा शुक्रवार को जारी पूर्वानुमान ने राहत का काम किया है। दरअसल IMD ने कहा है कि जून से सितंबर तक रहने वाला दक्षिण पश्‍चिम मानसून इस साल सामान्‍य रहेगा।

मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में बताया कि जून से सितंबर तक के मानसून महीने में पूरे देश में औसतन बारिश का दर सामान्‍य यानि 96 फीसद होगा।

बता दें कि आज ही मौसम विभाग ने दिल्‍ली के लिए ‘रेड कलर’ की चेतावनी जारी की है। पूर्वानुमान में मौसम विभाग ने कहा कि तापमान 45 डिग्री तक जा सकती है।

मौसम विभाग के चार ‘कलर कोड’ मैसेज हैं। ये कलर हैं- green, yellow, amber and red। Green यानि सामान्‍य वहीं रेड का अर्थ भीषण गर्मी। गुरुवार को मौसम विभाग द्वारा 46.8 डिग्री तापमान रिकार्ड किया गया जो पिछले पांच सालों में सबसे अधिकतम था।

क्षेत्रीय आधार पर देखें तो मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमोत्तर भारत में मानसून की अवधि में 94 फीसद बारिश होने के आसार हैं जबकि मध्य भारत में इसके 100 फीसद रहने की संभावना जताई जा रही है। वहीं पूर्वोत्तर भारत में मानसून के 91 फीसद बरसने की संभावना जताई जा रही है। वहीं दक्षिण के क्षेत्रों में यह 91 फीसद रह सकता है।
मौसम विभाग के अनुसार- मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़, दिल्ली और राजस्थान में लू और भीषण गर्मी जारी है। पूर्वानुमान के अनुसार इन हिस्सों में मौसम की यह स्थिति अभी अगले 48 घंटों तक बनी रहेगी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Monika Minal