Move to Jagran APP

Jammu Kashmir Issue: चीन-PAK को भारत ने एक साथ सुनाई खरी-खरी, कश्मीर राग अलापने पर विदेश मंत्रालय ने आड़े हाथों लिया

चीन और पाकिस्तान (China Pakistan) दोनों देश भारत के खिलाफ लगातार कोई न कोई साजिश रचते रहते हैं। ताजा मामले में दोनों दुश्मन देशों ने एक बार फिर से कश्मीर का राग अलापा है। चीन और पाकिस्तान ने पिछले दिनों कश्मीर के समाधान के लिए किसी भी एकतरफा कार्रवाई का विरोध किया था। चीन ने कहा द्विपक्षीय समझौतों के मुताबिक जम्मू-कश्मीर विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल किया जाना चाहिए।

By Agency Edited By: Abhinav Atrey Thu, 13 Jun 2024 05:30 PM (IST)
भारत चीन-पाकिस्तान के बयानों को अस्वीकार करता है- विदेश मंत्रालय (फाइल फोटो)

एएनआई, नई दिल्ली। चीन और पाकिस्तान (China Pakistan) दोनों देश भारत के खिलाफ लगातार कोई न कोई साजिश रचते रहते हैं। ताजा मामले में दोनों दुश्मन देशों ने एक बार फिर से कश्मीर का राग अलापा है। चीन और पाकिस्तान ने पिछले दिनों कश्मीर के समाधान के लिए किसी भी एकतरफा कार्रवाई का विरोध किया था।

दरअसल, चीन ने दोहराया था कि जम्मू-कश्मीर विवाद (Jammu Kashmir Issue) को संयुक्त राष्ट्र चार्टर, प्रासंगिक संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों और द्विपक्षीय समझौतों के मुताबिक उचित और शांतिपूर्ण तरीके से हल किया जाना चाहिए।

भारत चीन-पाक के बयानों को अस्वीकार करता है

चीन और पाकिस्तान के जम्मू-कश्मीर को लेकर दिए गए संयुक्त वक्तव्य को लेकर भारत ने गुरुवार को दो टूक जवाब दिया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने एक आधिकारिक बयान में कहा, "हमने 7 जून 2024 के चीन और पाकिस्तान के बीच संयुक्त वक्तव्य में जम्मू-कश्मीर (केंद्र शासित प्रदेश) को लेकर अनुचित बयानों को देखा है। हम इस तरह के बयानों को स्पष्ट रूप से अस्वीकार करते हैं।"

जम्मू-कश्मीर भारत के अभिन्न और अविभाज्य अंग- भारत

जायसवाल ने आगे कहा, "जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर हमारी स्थिति साफ है और चीन-पाकिस्तान को अच्छी तरह से पता है। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत के अभिन्न और अविभाज्य अंग रहे हैं और हमेशा रहेंगे। किसी अन्य देश के पास इस पर टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है।

पाकिस्तान ने चीन को जम्मू-कश्मीर की स्थिति पर जानकारी दी

बता दें कि पिछले दिनों पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ चीन की आधिकारिक यात्रा पर गए थे। इस दौरान पाकिस्तान ने चीनी पक्ष को जम्मू-कश्मीर की स्थिति के नवीनतम घटनाक्रमों के बारे में जानकारी दी थी।

ये भी पढ़ें: साइफर केस में फंसे इमरान खान को मिली बड़ी राहत, कार्यकर्ताओं के खिलाफ दर्ज हुए थे 42 मामले