मुर्शिदाबाद: एएनआइ। शहर में शिक्षक और आरएसएस के कार्यकर्ता, उनकी पत्नी और बच्चे की हत्या का माला तूल पकड़ चुका है। शनिवार को इस मामले में न्याय की मांग को लेकर स्थानीय लोगों ने कैंडल लाइट मार्च निकाला। तृणमूल कांग्रेस के विधायक श्योनी सिंहा रॉय भी मौजूद थीं। कई लोगों ने इस हत्‍या की सीबीआइ जांच की माग की है। इस हत्या पर पश्चिम बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि हमने राष्ट्रपति, केंद्रीय गृह मंत्री से समय मांगा है। समय मिलने पर प्रतिनिधिमंडल जाकर उन्हें बंगाल की स्थिति के बारे में बताएगा।

विजयादशमी के दिन हुई थी पूरे परिवार की हत्‍या

विजयादशमी के दिन घर में शिक्षक, उनकी गर्भवती पत्‍‌नी और आठ वर्षीय बेटे की धारदार हथियार से नृशंस हत्या कर दी गई। पुलिस ने घटनास्थल से हत्या में प्रयोग किए गए धारदार हथियार को बरामद किया। हत्या की वजह को लेकर पुलिस संशय में है। सूत्रों के अनुसार मूल रूप से जिले के सागरदीघी निवासी बंधु प्रकाश पाल 17 नंबर साहापुर प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक थे।

बताया जाता है कि कि शिक्षक बंधु प्रकाश पाल राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के सदस्य भी थे। करीब पांच वर्षो से शिक्षक पत्‍‌नी ब्यूटी मंडल और आठ वर्षीय बेटे बंधु अंगन पाल के साथ जियागंज के लेबूतला में रह रहे थे। विजयादशमी की सुबह करीब दस बजे प्रकाश बाजार से लौटे थे। इसके बाद दोपहर करीब साढ़े ग्यारह बजे उनके घर से चीखने चिल्लाने की आवाज सुनाई दी। इस पर आसपास के लोग शिक्षक के घर जा पहुंचे। आरोप है कि उस वक्त एक युवक को घर के अंदर से निकलकर भागते हुए देखा गया था।

फॉरेंसिक विशेषज्ञों ने घटनास्थल से नमूने एकत्र किए। स्निफर डॉग के साथ इलाके की जांच पड़ताल की गई। पुलिस की प्राथमिक जांच में ट्रिपल मर्डर के पीछे संपत्ति विवाद का माना जा रहा है। हालांकि हत्याकांड की ठोस वजह को लेकर पुलिस संशय में है।

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप