Move to Jagran APP

Monsoon 2023: मानसून के आने में होगी देरी, केरल में 4 जून को हो सकती है एंट्री: आईएमडी

Monsoon 2023 Latest Updates मौसम कार्यालय ने एक बयान में कहा इस साल केरल में दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुरुआत में थोड़ी देरी होने की संभावना है। केरल में मानसून की शुरुआत 4 जून को 4 दिनों की देरी के साथ होने की संभावना है।

By Shashank MishraEdited By: Shashank MishraTue, 16 May 2023 07:09 PM (IST)
केरल में मानसून की शुरुआत 4 जून को 4 दिनों की देरी के साथ होने की संभावना है।

नई दिल्ली, पीटीआई। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने मंगलवार को कहा कि केरल के ऊपर दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुरुआत में थोड़ी देरी होने की उम्मीद है और इसके 4 जून तक आने की संभावना है। दक्षिण-पश्चिम मानसून सामान्य रूप से लगभग 7 दिनों के मानक विचलन के साथ 1 जून को केरल में प्रवेश करता है।

4 दिनों की देरी के साथ मानसून के आने की संभावना

मौसम कार्यालय ने एक बयान में कहा, "इस साल, केरल में दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुरुआत में थोड़ी देरी होने की संभावना है। केरल में मानसून की शुरुआत 4 जून को 4 दिनों की देरी के साथ होने की संभावना है।" केरल में मानसून पिछले साल समय से पहले पहुंचा था।

आईएमडी ने पिछले महीने कहा था कि अल नीनो की स्थिति के बावजूद भारत में दक्षिण-पश्चिम मानसून के मौसम में सामान्य बारिश होने की उम्मीद है। वर्षा आधारित कृषि भारत के कृषि परिदृश्य का एक महत्वपूर्ण घटक है, जिसमें शुद्ध कृषि क्षेत्र का 52 प्रतिशत इस बारिश पर निर्भर है। यह देश के कुल खाद्य उत्पादन का लगभग 40 प्रतिशत है, जो भारत की खाद्य सुरक्षा और आर्थिक स्थिरता में महत्वपूर्ण योगदान देता है।

हीटवेव की स्थिति पश्चिमी विक्षोभ के कारण कम गंभीर

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने मंगलवार को कहा कि मई के पहले पखवाड़े में हीटवेव की स्थिति पश्चिमी विक्षोभ के कारण कम गंभीर थी, जिससे उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्से प्रभावित हुए। अगला पश्चिमी विक्षोभ उत्तर पश्चिम भारत में आ रहा है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग के वैज्ञानिक कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि हरियाणा, दिल्ली एनसीआर, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तर-पूर्वी राजस्थान में धूल भरी हवाएं चल रही हैं। इसके पीछे मुख्य कारण यह है कि एक पश्चिमी विक्षोभ गुजर चुका है और तेज हवाएं चल रही हैं।