मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्‍ली, एएनआइ। IMD Alert Heavy Rainfall भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बुधवार को मध्‍य महाराष्‍ट्र, कोंकण, गोवा और गुजरात रीजन के कुछ इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। इसके अलावा जम्‍मू-कश्‍मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्‍तराखंड और दक्षिण राजस्‍थान में भी भारी बारिश हो सकती है। विभाग के मुताबिक, दिल्‍ली-एनसीआर के इलाकों में बृहस्पतिवार से मौसम के बदलने के आसार हैं जिससे अच्छी बारिश हो सकती है। 

मौसम विभाग (India Meteorological Department, IMD) ने सब-हिमालयन पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, छत्‍तीसगढ़, सौराष्‍ट्र व कक्ष, तेलंगाना एवं तटीय कर्नाटक में भारी से ज्‍यादा भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। विभाग ने उत्‍तर, मध्‍य व दक्षिण पश्चिम अरब सागर और गुजरात के तटीय इलाकों में 40 से 50 किलोमीटर की गति से हवाएं चलने का अनुमान जताया है। इसके साथ ही मछुआरों को अगले कुछ दिनों तक समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है।

इस बीच खराब मौसम के कारण बाबा अमरनाथ यात्रा जम्मू से स्थगित कर दी गई है। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर रामबन के नजदीक कई जगह भूस्खलन होने से मार्ग बंद है। यात्रा के आधार शिविर यात्री निवास भगवती नगर में डेढ़ हजार के करीब श्रद्धालुओं ने डेरा डाला हुआ है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, पूर्वांचल में मानसूनी परिस्थितियां एकबार फ‍िर सक्रिय हो गई हैं।

दक्षिण गुजरात व सौराष्ट्र में पिछले दो दिनों से जारी भारी बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। कई गांवों में बिजली गुल हो गई है। हजारों लोगों को स्थानांतरित किया गया है। बारिश के कारण रेल, हवाई यातायात बाधित हुआ है। राज्य सरकार ने भारी बारिश के मद्देनजर तमाम अधिकारियों छुट्टी रद्द कर दी है। संवेदनशील इलाकों में एनडीआरपी की 15 टीमों को तैनात कर दिया गया है।

मध्य प्रदेश में पैदा हुए कम दबाव के चलते गुजरात में भारी बारिश हो रही है। सौराष्ट्र के राजकोट जिले में पिछले 24 घंटो में सबसे अधिक 10 इंच बारिश हुई है। यहां बारिश के चलते लोगों को घरों दो-दो फुट पानी भर गया है। सभी अंडरपास भी बंद कर दिये गये है। जामनगर- देव भूमि द्वारका जिले में भी 10 इंच बारिश से नीचले वाले विस्तारों मे पानी भर गया है। दक्षिण गुजरात के बात कि जाये तो यहां वलसाड में 9 इंच बारिश होने से ओरंग नदी उफान पर है। डांग में भारी बारिश के चलते 11 कोजवे पानी बह जाने से 19 गांवों का संपर्क टूट गया है। 

इधर, उत्तर बिहार में बाढ़ की स्थिति से लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं। पूर्वी चंपारण, सीतामढ़ी और दरभंगा जिले के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के कई गांव अब भी पानी से घिरे हैं। दरभंगा-समस्तीपुर रेलखंड पर तीसरे दिन भी ट्रेनों का परिचालन ठप रहा। दरभंगा जिले में बाढ़ के पानी में डूबने से तीन लोगों की मौत हो गई। कई स्थानों पर राहत नहीं मिलने और बाढ़ पीड़ितों की सूची में गड़बड़ी को लेकर लोगों ने हंगामा और प्रदर्शन किया। सड़कें ध्वस्त होने के कारण कई स्थानों पर आवागमन ठप है। पूर्वी चंपारण के बाढ़ प्रभावित प्रखंडों में स्थिति गंभीर है। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप