नई दिल्ली। अलगाववादी नेता मसर्रत आलम की रिहाई पर छिड़ा सियासी घमासान रुकने का नाम नहीं ले रहा है। एक ओर जहां पीडीपी अपने फैसले को सही बता रही है वहीं भाजपा के लिए यह एक गले की फांस बनती दिखाई दे रही है। कांग्रेस समेत अन्य दल इस मुद्दे पर भाजपा को घेरने में लगे हैं। इस मुद्दे पर आज घाटी की भाजपा इकाई का एक प्रतिनिधिमंडल भी राज्य के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद से भी मुलाकात करने वाले हैं।

इसे भी पढ़ें- मसर्रत पर बिगड़ा कश्मीर का आलम

सदन में आज इस मुद्दे पर एक बार फिर से विपक्ष ने सरकार को घेरने की कोशिश की। भाजपा नेता आरके सिंह ने इस बाबत पूछे गए प्रश्न के जवाब में यहा तक कह डाला कि यदि पीडीपी की तरफ से इस तरह के काम आगे भी जारी रहते हैं तो भाजपा गठबंधन को जारी रखने के बारे में एक बार फिर से विचार करेगी। उन्होंने अलगाववादी नेता मसर्रत आलम की रिहाई को गलत बताते हुए कहा कि एक बार फिर वह अपने पुराने रास्ते पर जा सकता है।

पढ़ें: मसर्रत पर महाभारत, पीएम बोले, ऐसी हरकत बर्दाश्त नहीं होगी

Edited By: Kamal Verma