हैदराबाद (एएनआइ)। एनआरआई पति से परेशान पत्नी ने अपने बेटे को वापस भारत लाने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद की गुहार लगाई है। हैदराबाद निवासी इस महिला ने आरोप लगाया है उसका पति दुबई में रहता है और उसने उसके दो साल के बेटे को जबरन अपने पास रखा हुआ है। महिला का कहना है कि उसे मजबूरन अपने बच्चे को यूएइ छोड़कर आना पड़ा है।

महिला ने बताया कि साल 2015 में उसकी शादी हुई थी, लेकिन शादी के बाद से ही उसके पति ने उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया था। उसने बताया कई मौकों पर पति ने उसके साथ मारपीट भी की। फरवरी ने उसके पति और ससुरालवालों ने उसे भारत भेज दिया, लेकिन बच्चे को साथ नहीं लाने दिया। पीड़िता का कहना है कि वह अपने बेटे को भी भारत वापस लाना चाहती थी, लेकिन पति ने बेटे को उनके साथ भेजने से इनकार कर दिया।

महिला ने कहा, 'दुबई में मैं अपने पति और ससुरालवालों द्वारा लगातार प्रताड़ित की जाती थी। ये सब साल 2016 में मेरे बेटे के जन्म के बाद भी जारी रहा। मेरे ससुरालवालों ने मेरे और मेरे पिता के एक सादे कागज पर हस्ताक्षर भी लिए हुए हैं। उन्होंने मुझसे मेरा बच्चा छीन लिया और फरवरी में मुझे भारत वापस भेज दिया। उसके बाद से मैंने अपने बच्चे को नहीं देखा है।'

हैदराबाद लौटने के एक महीने बाद महिला ने अपने पति के खिलाफ सरोर्नगर क्षेत्र के स्थानीय पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई, जिसमें उसे धोखाधड़ी और उत्पीड़न का आरोप लगाया गया। महिला अपने बेटे से मिलने के लिए तड़प रही है। हालांकि तमाम कोशिशों के बाद भी जब कुछ हासिल नहीं हुआ, तो अब एक मां ने अपने बेटे से मिलने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद मांगी है।

Posted By: Nancy Bajpai