भोपाल,  नईदुनिया मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनी ट्रैप मामले से संबंधित मानव तस्करी के केस में पीडि़ता के बयान में छतरपुर कांग्रेस जिला अध्यक्ष मनोज त्रिवेदी और उसके साथी का नाम सामने आने के बाद प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने त्रिवेदी का इस्तीफा मांग लिया है। त्रिवेदी का एक कथित वीडियो भी वायरल हुआ है, जिसमें त्रिवेदी एक युवती के साथ आपत्तिजनक स्थिति में दिखाई दे रहा है। पीसीसी ने त्रिवेदी के स्थान पर अभी किसी अन्य को जिले की कमान नहीं सौंपी है। 

मानव तस्करी के मामले में पिछले दिनों भोपाल की अदालत में चालान पेश हुआ था, जिसमें फरियादी की बेटी और पीड़िता मोनिका यादव के बयान भी थे। पीडि़ता ने इसमें बताया था कि हनी ट्रैप की आरोपित आरती दयाल उसे अपने साथ छतरपुर ले गई थी। उन्हें राजेश गंगेले के पास जाना था। गंगेले के नहीं मिलने पर वे लोग कांग्रेस नेता मनोज त्रिवेदी के पास गए।

मोनिका ने पुलिस को बयान में बताया कि आरती ने एक आपत्तिजनक वीडियो के आधार पर मनोज त्रिवेदी को ब्लैकमेल करने का प्रयास किया तो स्थानीय थाना प्रभारी ने उन्हें रोक दिया था। उसे आरती द्वारा बनाए गए वीडियो की जानकारी थी। अदालत में मानव तस्करी मामले का चालान पेश हो जाने और उक्त बयान रिकार्ड पर आ जाने के बाद भी मनोज त्रिवेदी पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) ने कार्रवाई नहीं की।

इस बीच कांग्रेस महासचिव व प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया के भोपाल दौरे के दौरान मनोज त्रिवेदी तथा एक युवती का आपत्तिजनक वीडियो वायरल हुआ। सूत्रों के मुताबिक आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने पर त्रिवेदी की बाबरिया से शिकायत की गई। इसके बाद मनोज त्रिवेदी से पीसीसी ने इस्तीफा ले लिया। इस्तीफा तत्काल स्वीकार कर लिया गया। पीसीसी के संगठन प्रभारी उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर ने त्रिवेदी के इस्तीफे की पुष्टि की है।

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस