नई दिल्ली, एजेंसी। देश के कई राज्यों में भारी बारिश के कारण बाढ़ आने से तबाही हो रही है और जनजीवन अस्त-व्यस्त है। असम समेत उत्तर प्रदेश और बिहार के इलाकों में बाढ़ के कारण हालात चिंताजनक हैं। केंद्र की एक टीम ने बिहार के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया और नुकसान का जायजा लिया है।

असम: सुधर रहे बाढ़ के हालात

असम में बाढ़ के हालात में लगातार सुधार हो रहा है और पिछले 24 घंटे में प्रभावित लोगों की संख्या आधी हो गई है। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कहा कि राज्य के 11 जिलों में बाढ़ प्रभावित लोगों की संख्या अब करीब 20,000 है, वहीं मृतक संख्या आठ बनी हुई है।

उत्तराखंड में बाढ़ के कारण तबाही

उत्तराखंड में देहरादून और ऋषिकेश को जोड़ने वाला रास्ता भारी बारिश के कारण पानी के तेज बहाव में बह गया। जाखन नदी के ऊपर बना पुल धंसने के बाद 27 अगस्त को लोगों और वाहनों की आवाजाही के लिए यह रास्ता बनाया गया था।

तेलंगाना में भी बाढ़ के कारण बेकाबू हालात

दिल्ली दौरे पर आए तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (KCR)ने मंगलवार को तेलंगाना में बाढ़ के हालात की समीक्षा की। उन्होंने राज्य के मुख्य सचिव सोमेश कुमार से फोन पर जानकारी ली और आवश्यकतानुसार निर्देश दिए। राज्य में जारी भारी बारिश से बिजली सप्लाई, सड़कें आदि प्रभावित हो गई हैं।

महाराष्ट्र में दो बच्चों की डूबने से मौत

महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में भारी बारिश के कारण अनेकों नदियों और नहरों में जलस्तर बढ़ गया। इसी बीच नदी में डूबकर दो लड़कों की मौत हो गई। इसमें से एक 18 साल का था और दूसरा 14 साल का।

बिहार में आज मुख्यमंत्री लेंगे जायजा

बिहार में कहीं बाढ़ तो कहीं सूखा पड़ा है। इसे लेकर आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समीक्षा बैठक करेंगे। इसमें राज्य के प्रत्येक जिले से जिलाधिकारी वर्चुअली हिस्सा लेंगे। बैठक में मुख्यमंत्री को जिले की वर्तमान हालात से अवगत कराया जाएगा।

Edited By: Monika Minal