नई दिल्ली, जेएनएन।  देश के कई हिस्सों में बारिश मुसीबत बनी हुई है। पिछले कई दिनों से हो रही बरसात के बाद मुंबई में एक बार फिर अलर्ट जारी किया गया है। वहीं उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश जैसे राज्यों में बारिश के कारण लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि दिल्ली एनसीआर और उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में हल्की बारिश हुई हैं।

मुंबई में पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश हो रही है जिसके कारण लोगों का जीवन काफी अस्त-व्यस्त हो गया है। मौसम विभाग ने यहां अगले दो दिनों तक भारी बारिश की आशंका जताई है। आईएमडी के चीफ पीआरओ विशंभर सिंह ने कहा, अगले दो दिनों तक शहर और उसके आसपास के इलाकों में भारी से बहुत अधिक बारिश होने की संभावना है। आईएमडी ने इस अवधि के लिए बादल छाए रहने की भविष्यवाणी की है। इस बीच, शनिवार को मध्य रेलवे (सीआर) और पश्चिम रेलवे (डब्ल्यूआर) की मुख्य और पश्चिमी लाइनों पर समय पर ट्रेनें नहीं चलीं।

 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी भारी बारिश के चलते राज्य के कुछ हिस्सों में स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। कोल्हापुर में बाढ़ जैसी स्थिति से बचने के लिए सीएम फडणवीस ने कर्नाटक से अलमट्टी बांध (Almatti Dam) से पानी छोड़ने का आग्रह किया है। 

महाराष्ट्र के गढचिरौली में भी बारी बारिश के कारण सड़कों पर पानी भर गया है। ऐसी स्थिति में लोग अपने रोजमर्रा के काम नहीं कर पा रहे हैं। 

उत्तराखंड में भी बादल फटने के कारण बदरीनाथ यात्रा पर जा रहे भक्तों को काफी परेशानी हो रही है। बादल फटने के कारण गोविंदघाट में  सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई हैं जिस वजह से भक्तों को क्रॉसिंग में दिक्कत हो रही है। हालांकि उत्तराखंड पुलिस भक्तों की यहां पूरी तरह से मदद कर रही है। इससे पहले चमोली के लामबगड़ में तीन दिन से बंद बदरीनाथ हाईवे को शुक्रवार शाम करीब चार बजे खोल दिया गया।  

उत्तराखंड के चमोली जिले के धुरमा गांव में शनिवार देर रात बादल फटने से आई बाढ़ में तीन मकान क्षतिग्रस्त हो गए और दो बह गए। हालांकि अभी तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। जिला प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर घटना का जायजा लिया। भारी बारिश से गांव में अफरा-तफरी का माहौल रहा।

मानसून के दौरान हुई बारिश से हिमाचल प्रदेश को 1200 करोड़ रुपये की क्षति हुई है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शुक्रवार को केंद्रीय टीम से बैठक के दौरान बारिश से हिमाचल को हुए नुकसान की आंकड़ों सहित जानकारी दी। वहीं दूसरी तरफ राज्य के कुछ जिलों में सामान्य से कम बारिश हुई है। उधर मध्य प्रदेश में भी बारिश का कहर देखने को मिला है। यहां भोपाल में बारिश के कारण सड़कों पर पानी भर गया है। 

Posted By: Neel Rajput

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप