मुंबई। महाराष्ट्र लोकसेवा आयोग घोटाला मामले में बांबे हाई कोर्ट ने पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी को सुनवाई के दौरान मंगलवार को कोर्ट में हाजिर रहने का आदेश दिया है। इस घोटाले (वर्ष 2001) की जांच करने वाले जांच अधिकारी के खिलाफ सरकार द्वारा कोई कार्रवाई नहीं करने पर कोर्ट में दो याचिकाएं दाखिल की गई हैं। जांच अधिकारी सुधाकर पुजारी पर अंडरव‌र्ल्ड से संबंध होने का आरोप लगाया गया है।

जस्टिस एएम खानविलकर की अध्यक्षता वाली पीठ ने अतिरिक्त पुलिस आयुक्त को कोर्ट में उपस्थित रहने का आदेश दिया। कोर्ट ने पुजारी का सर्विस रिकॉर्ड भी तलब किया है। कोर्ट यह जानना चाहती है कि पुजारी के खिलाफ अभी तक जांच शुरू की गई है या नहीं। सरकार को 28 जनवरी तक हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया गया था। लेकिन, कोई जवाब नहीं दिया गया। इस मामले में एमनेस्टी इंटरनेशनल और महाराष्ट्र के पूर्व गृह राज्य मंत्री प्रभाकर मोरे के निजी सचिव के पद पर रह चुके अविनाश सनास द्वारा याचिका दाखिल की गई थी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप