नई दिल्ली, एएनआई। न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च की मस्जिद में गोलीबारी में 49 लोगों की जान चली गई। इसी हमले में घायल एक भारतीय के रिश्‍तेदार ने भारत सरकार से मदद की गुहार लगाई है। मदद की गुहार लगाने वाले का नाम हाजी अली पटेल है। यह गुजरात के भरूच के रहने वाले हैं। हाजी अली ने बताया कि मेरा भाई और उनकी पत्‍नी मस्‍जिद में गए थे। इसी बीच हमलावर ने मेरे भाई पर पीछे से हमला कर दिया। इससे उसके पीठ में गोली लग गई। मदद के लिए पहुंची पुलिस ने मेरे भाई को अस्‍पताल ले गई मगर मेरी बहन को अस्‍पताल में उनसे मिलने नहीं दिया जा रहा है। मेरा उन दोनों ही लोगों से संपर्क नहीं हो पा रहा है।

उसने बताया कि वहां का स्‍थानीय प्रशासन मेरेे परिवार की मदद नहीं कर रहा है। मेरे भाई की हालत काफी नाजुक है। मैं केंद्रीय सरकार, पीएम मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज और गुजरात के सीएम इस मुश्‍किल घड़ी में मदद की गुहार लगा रहा हूं। मैं उनसे मदद की आशा रखता हूं।

क्‍या है क्राइस्‍टचर्च हमला
न्‍यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च की मस्जिदों में हुई एक हमलावार ने अचानक से गोलीबारी शुरू कर दी। इस हमलावर की उम्र 28 वर्षीय बताई जा रही है। इस घटना के बाद न्यूजीलैंड पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया था। इनमें से एक को छोड़ दिया गया है और दो लोग हिरासत में हैं। बता दें कि इस घटना में 49 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 48 लोग घायल बताए जा रहे हैं। बता दें कि न्यूजीलैंड की गिनती दुनिया के सबसे शांत देशों में होती है।

मौजूद लोगों के मुताबिक हमलावर ने पांच मिनट तक गोलीबारी की। हमलावर गोलीबारी के दौरान Facebook पर लाइव था। इस दौरान उसने कहा कि वह 28 वर्षीय ऑस्ट्रेलियाई है। उसने अपना नाम ब्रेंटन टैरंट बताया। वह इस हमले की पिछले दो वर्षों से योजना बना रहा था।

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप