Move to Jagran APP

''एनएच पर हेलीपैड व ड्रोन लैंडिंग सुविधाओं की तैयारी'', गडकरी बोले- आपात स्थितियों से निपटने में मिलेगी मदद

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि हस्तशिल्प और स्थानीय स्तर पर बनाए गए उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए रिटेल आउटलेट भी होंगे। कुछ डब्ल्यूएसए में किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए हेलीपैड और ड्रोन लैंडिंग जैसी सुविधाएं भी मुहैया कराई जाएंगी।

By AgencyEdited By: Anurag GuptaSun, 30 Apr 2023 12:34 AM (IST)
राष्ट्रीय राजमार्गों पर हेलीपैड व ड्रोन लैं¨डग सुविधाओं की भी तैयारी : गडकरी

मुंबई, पीटीआई। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को कहा कि सरकार राष्ट्रीय राजमार्गों के किनारे जिन 600 स्थानों पर सुविधाएं विकसित कर रही है, उनमें से कुछ स्थानों पर हेलीपैड और ड्रोन लैंडिंग सुविधाएं भी स्थापित करने की योजना बना रही है।

गडकरी ने शहर में आयोजित इंडियन मर्चेंट्स चैंबर के एक कार्यक्रम में कहा कि ऐसी सुविधाएं सड़क दुर्घटनाओं और अंग प्रत्यारोपण जैसी आपात स्थितियों से निपटने में मदद करेंगी।

सरकार विकसित कर रही WSA

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री गडकरी ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्गों पर 600 से अधिक स्थानों पर सरकार विश्वस्तरीय वेसाइड सुविधाएं (डब्ल्यूएसए) विकसित कर रही है। इनमें अच्छे शौचालय, पार्किंग और रेस्तरां जैसी बुनियादी सुविधाओं के साथ-साथ सड़क किनारे ट्रक चालकों के लिए डोर्मिटरी, इलेक्टि्रक वाहनों को चार्ज करने की सुविधा और ट्रॉमा सेंटर आदि शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि हस्तशिल्प और स्थानीय स्तर पर बनाए गए उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए रिटेल आउटलेट भी होंगे। कुछ डब्ल्यूएसए में किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए हेलीपैड और ड्रोन लैंडिंग जैसी सुविधाएं भी मुहैया कराई जाएंगी।

उन्होंने कहा कि पीएम गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान (एनएमपी) एक बहुत बड़ी पहल है और इससे ढुलाई खर्च को कम करने में मदद करेगी। उन्होंने कहा कि अमेरिका जैसी अन्य विकसित अर्थव्यवस्थाओं में आठ-नौ प्रतिशत की तुलना में भारत में ढुलाई खर्च जीडीपी का 13-14 प्रतिशत से अधिक है।