नई दिल्ली, प्रेट्र। इंटरनेट क्षेत्र की दिग्गज कंपनी गूगल ने पेमेंट सेवाओं से जुड़े डाटा स्थानीय स्तर पर स्टोर करने के रिजर्व बैंक के नियम को मानने पर सहमति जताई है। कंपनी ने इन नियमों का पालन सुनिश्चित करने के लिए दिसंबर तक का समय मांगा है।

सूत्रों के मुताबिक, सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद की अमेरिका यात्रा के दौरान गूगल ने नियमों के पालन पर सहमति जताई। अगस्त में अमेरिका यात्रा के दौरान प्रसाद कैलिफोर्निया स्थित गूगल के मुख्यालय भी गए थे। वहां गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई से उनकी मुलाकात हुई थी।

Image result for ravi shankar prasad and sunder pichai

उल्लेखनीय है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने ग्राहकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पेमेंट सेवा देने वाली सभी कंपनियों को निर्देश दिया है कि लेनदेन से जुड़े सभी डाटा देश के अंदर ही स्टोर किया जाए। इसके लिए कंपनियों को अक्टूबर मध्य तक का समय दिया गया है।

पिचाई ने हालांकि प्रसाद को पांच सितंबर को एक पत्र लिखा था, जिसमें डाटा की मुक्त आवाजाही की पैरवी की गई है। इंटरनेट क्षेत्र की दिग्गज फर्म 'गूगल पे' के नाम से पेमेंट सर्विस मुहैया कराती है। कंपनी का कहना है कि हर महीने 2.2 करोड़ लोग इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते हैं।

Posted By: Arun Kumar Singh