नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। हर मौके की तरह गूगल ने 73वें गणतंत्र दिवस पर खास और आकर्षक डूडल बनाया है। इसमें गूगल ने भारत की संस्कृति और विरासत की झलक का प्रदर्शन किया है।  26 जनवरी को पूरी दुनिया भारत की सांस्कृतिक विरासत, सैन्य ताकत और विकास की झलक देखती है। यह प्रत्येक भारतीय के लिए गौरवान्वित करने वाली बात होती है।  खास अंदाज में गूगल के इस डूडल में ऊंट, हाथी, घोड़े, ढोलक समेत कई म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट और तिरंगे को काफी मनमोहक अंदाज में दिखाया गया है। गूगल का यह विशेष अंदाज वाला डूडल मौके को यादगार बना देता है।

बता दें कि बीते साल 72वें गणतंत्र दिवस पर गूगल  के डूडल में देशभर की विभिन्न संस्कृतियों की  झलक देखने को मिली थी। इससे पहले 71वें गणतंत्र दिवस पर गूगल ने भारतीय संस्कृति की झलक दिखाते हुए उसका रंग बिरंगा डूडल बनाया था। डूडल में इंडिया गेट से लेकर भारत की हर सांस्कृतिक झांकी को देखा जा सकता था। राष्ट्रीय पक्षी मोर, भारत की विविधता, कला व नृत्य सबदेखने को मिला था।

गणतंत्र दिवस परेड देखने जा रहे हैं तो वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट लेकर जाएं

दिल्ली पुलिस ने सोमवार को गाइडलाइंस जारी कर कहा कि कोरोना टीकों की दोनों डोज लगवा चुके विजिटर ही गणतंत्र दिवस परेड कार्यक्रम में शामिल हो सकेंगे। इसके अलावा 15 साल से कम उम्र के बच्चों को कार्यक्रम में शामिल होने की अनुमति नहीं होगी।पुलिस ने ट्वीट कर लोगों से अपना टीकाकरण प्रमाणपत्र भी साथ लाने का अनुरोध किया है। राजपथ पर कार्यक्रम में लोगों को मास्क पहनने और शारीरिक दूरी का पालन करने जैसे कोरोना के सभी प्रोटोकाल का पालन करना होगा। पुलिस ने कहा कि विजिटर्स के लिए बैठने का स्थान (सिटिंग ब्लाक्स) सुबह सात बजे खुल जाएगा, लिहाजा लोग इसके मुताबिक ही वहां पहुंचे। चूंकि पार्किग का स्थान सीमित है इसलिए विजिटर्स को सलाह दी गई है कि कार पूल करें या टैक्सी का इस्तेमाल करें। उनसे वैध पहचान पत्र लाने और सुरक्षा जांच के दौरान सहयोग करने का अनुरोध भी किया गया है। पुलिस ने बताया कि प्रत्येक पार्किग क्षेत्र में रिमोट कंट्रोल वाली कार की चाबियों को जमा करने का प्रबंध भी होगा।

Edited By: Monika Minal